भारतीयों के लिए रजिस्टर्ड ट्रैवलर्स स्कीम की घोषणा

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के दौरे पर आई ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने घोषणा की है कि भारत पहला देश है जिसके नागरिकों को ब्रिटेन आने के लिए रजिस्टर्ड ट्रैवलर्स स्कीम की पेशकश की जा रही है.

इसके अलावा कुछ दौलतमंद भारतीयों को ग्रेट क्लब के तहत खास वीज़ा और इमिग्रेशन सेवा उपलब्ध कराई जाएगी.

ब्रिटेन में प्रवेश को आसान बनाने के लिए अब वर्क वीज़ा वाले हज़ारों भारतीय रजिसटर्ड ट्रैवलर्स स्कीम का फ़ायदा उठा पाएँगे.

ब्रितानी प्रधानमंत्री ने भारत यात्रा के दौरान सोमवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के बाद दोनों देशों का संयुक्त वक्तव्य जारी किया.

भारत के विदेश मंत्रालय के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच दो क्षेत्र -बौद्धिक संपदा और कारोबार करने को आसान बनाने के मुद्दे पर- मेमोरंडम ऑफ़ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर हुए हैं.

ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने इस मौके पर ही भारत के अमीर कारोबारियों के लिए विशेष वीज़ा प्रावधानों की बात कही.

टेरीज़ा मे ने कहा कि भारत के कुछ अमीर लोगों और उनके परिवार वालों के वीजा आवेदनों को आसान बनाने के लिए उन्हें एक ख़ास क्लब में शामिल किया जाएगा.

इसके अलावा चरमपंथ के मुद्दे पर भी दोनों देशों के बीच तकनीकी संबंध बढ़ाने की बात कही गई है. इतना ही नहीं ब्रिटेन ने एक बार फिर भारत के न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की सदस्यता का समर्थन किया है.

इमेज कॉपीरइट PA WIRE

इस मौके पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वे भारतीय रक्षा क्षेत्र में निवेश करने के लिए ब्रिटिश कंपनियों को प्रोत्साहित करते हैं.

मोदी ने ये भी कहा कि दोनों देशों के बीच आपसी संबंध तेजी से बढ़ रहे हैं और संबंधों को बढ़ाने के लिए नए क्षेत्र तलाशे जा रहे हैं.

इसके अलावा मोदी ने ये भी कहा कि दोनों देशों को स्वच्छ ऊर्जा के उत्पादन में आपसी सहयोग बढ़ाने की जरूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)