इन 5 कारणों से गिरे भारत के शेयर बाज़ार

इमेज कॉपीरइट AFP

गुरुवार को मज़बूती दिखाने के बाद शुक्रवार को भारतीय शेयर बाज़ारों में गिरावट का रुख़ रहा.

30 शेयरों वाला बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स लगभग 700 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ. सेंसेक्स 699 अंकों की गिरावट के साथ 26,818 पर बंद हुआ.

सन फार्मा को छोड़कर सेंसेक्स के सभी शेयरों में बिकवाली रही.

विशेषज्ञों के मुताबिक़ शेयर बाज़ारों में घबराहट की ये 5 वजहें थीं.

इमेज कॉपीरइट PA

1- अमरीका बॉन्ड बाज़ार में उछाल- अमरीका में डोनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद ब्याज दरों में संभावित बढ़ोतरी ने एशियाई बाज़ारों का दम निकाला.

2- विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली- गुरुवार को भारतीय बाज़ारों में यूं तो ख़रीदारी का माहौल रहा, लेकिन विदेशी संस्थागत निवेशकों का ज़ोर शेयरों को बेचने पर ही रहा. एनएसडीएल से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक़ विदेशी संस्थागत निवेशकों ने ख़रीदारी से अधिक शेयरों की बिकवाली की.

3- रुपये में कमज़ोरी- डॉलर के मुक़ाबले रुपये में कमज़ोरी ने भी बाज़ार का मूड बिगाड़ा. डॉलर की अधिक मांग के कारण रुपया 52 पैसे और कमजोर हुआ.

4- कंपनियों के कमज़ोर नतीजे- जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान कंपनियों के नतीजे बाज़ार की उम्मीदों के मुताबिक़ नहीं रहे.

5- मुनाफ़ावसूली- अमरीका में राजनीतिक उथल-पुथल और भारत में पुराने नोटों पर बैन को लेकर कई तरह की आशंकाओं के बीच निवेशकों ने मुनाफ़ावसूली करना ही बेहतर समझा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)