'ATM में तकनीकी बदलाव में 2-3 हफ्ते लगेंगे'

इमेज कॉपीरइट AP

भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि पहले दो दिनों में बैंकों में लगभग दो लाख करोड़ रुपए का लेन-देन हुआ है.

अरुण जेटली ने लोगों और बैंक कर्मचारियों का शुक्रिया भी अदा किया.

उन्होंने कहा, "लोग बहुत संयम के साथ तक़लीफ सहकर पूर्ण रूप से सहयोग कर रहे हैं. ये एक बड़ा अभियान है इसलिए बैंकों में भीड़ है."

जेटली ने कहा, "बैंक के कर्मचारी और अधिकारी भी बिना छुट्टी लिए सुबह से लेकर देर रात तक सामान्य बैंकिंग के साथ-साथ ये बहुत बड़ी कार्रवाई बहुत अच्छे तरीके से कर रहे हैं."

इमेज कॉपीरइट AP

जेटली ने बताया, "स्टेट बैंक ने सवा दो दिनों में 54370 करोड़ रुपए का लेनदेन किया है. बैंक में 47468 करोड़ रुपए जमा किए गए हैं."

उन्होंने बताया कि देश में कुल बैंकिंग में 20-25 फ़ीसदी हिस्सेदारी स्टेट बैंक की ही है.

उन्होंने कहा, "इस हिसाब से पहले दो दिनों में ही लगभग दो लाख करोड़ रुपए का लेनदेन हुआ है जिसमें ज़्यादा तादाद बैंकों में जमा किए गए पैसे की है."

उन्होंने कहा कि रिज़र्व बैंकों की तिजोरियों में पर्याप्त मात्रा में पैसा है.

वित्त मंत्री ने कहा कि सोने की बिक्री और लेन-देन पर भी सरकार की नज़र है.

एटीएम से दो हज़ार रुपए के नए नोट न निकलने पर वित्त मंत्री ने कहा, "दो लाख एटीएम मशीनों को पहले रीकेलिब्रेट नहीं किया गया है, अगर हम ये प्रयास पहले करते तो ये अभियान ख़ुफ़िया नहीं रह पाता."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा कि ये तकनीकी काम है और इसमें समय लग रहा है.

राजनीतिक दलों के आरोपों पर वित्त मंत्री ने कहा कि कुछ राजनीतिक प्रतिक्रियाएं तुच्छ क़िस्म की है.

उन्होंने कहा, "कुछ लोगों को देश की राजनीति स्वच्छ करने के इस प्रयास से समस्याएं हैं."

सितंबर के महीने में बैंकों में अधिक मात्रा में पैसे जमा किए जाने और नोट बदली के बारे में कुछ चुनिंदा लोगों को जानकारियां लीक किए जाने के आरोपों को भी वित्त मंत्री ने आधारहीन बताया.

उन्होंने कहा, "मैंने रिज़र्व बैंक का डाटा देखा है, पिछले एक वर्ष में सिर्फ़ सितंबर 2016 में पैसे जमा होने में बढ़ोत्तरी हुई है. ये इसलिए हुआ कि 31 अगस्त को वेतन आयोग के बढ़ाए भत्ते जारी किए गए थे."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पांच सौ रुपए के नोटों के सवाल पर जेटली ने कहा, "पाँच सौ रुपए के कुछ नोट बाज़ार में आ गए हैं, बाक़ी जल्द आ जाएंगे.

थोक बाज़ार में आ रही दिक्कतों के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार थोक बाज़ार में कालाधन नहीं चलने देगी.

क्या किसी ख़ास वर्ग को रियायत दी जाएगी इस पर उन्होंने कहा, "अगर सरकार किसी को भी रियायत देगी तो इससे काले धन वाले लोगों के लिए रास्ता खुल जाएगा."

बैंकों में कैश को लेकर हो रही दिक़्क़तों के सवाल पर जेटली ने कहा, "कैश बहुत पर्याप्त मात्रा में है, कुछ लोग चाहते हैं कि उन्हें छोटी करेंसी अधिक मिले, कहीं-कहीं इसे लेकर दिक्कत हैं."

नए नोट कितने सुरक्षित हैं इस पर उन्होंने कहा, "सरकार ने नए नोट में कई तरह की सुरक्षा व्यवस्थाएं की हैं इसलिए नए नोटों की नकल करना मुश्किल होगा."

बैंकों की छुट्टी के संबंध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, "सोमवार को जिन राज्यों में छुट्टी है वहां बैंक बंद रहेंगे."

क्या लोग सिर्फ़ एक बार ही चार हज़ार रुपए बदल सकते हैं इस सवाल पर जेटली ने कहा, "ऐसा कोई नियम नहीं है कि एक व्यक्ति एक बार ही चार हज़ार रुपए बदल सकता है लेकिन बेहतर ये रहेगा कि लोग अपने खाते में पैसा जमा कर दें और फिर निकाले. इससे भीड़ कम करने में मदद मिलेगी."

काले धन को अलग-अलग तरीक़ों से वैध किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, "अगर कोई भी व्यक्ति ग़ैर क़ानूनी काम करेगा तो संबंधित विभाग उस पर कार्रवाई करेंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)