पीएम मोदी ने कहा- देश मुझे दुआएं दे रहा है

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रविवार के दिन बैंक खुलने की ख़बर के बाद से ही बैंकों के बाहर कतारें लगनी शुरू हो गई थीं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक़ भारतीय करेंसी से बड़े नोटों को हटाए जाने की सूचना का गुप्त रखा जाना बेहद जरूरी था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी जापान यात्रा के दौरान कहा, "भारतीय करेंसी से बड़े नोटों को हटाए जाने की सूचना का गुप्त रखा जाना बेहद जरूरी था."

मोदी सरकार के 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने के फ़ैसले का आज पांचवा दिन है और इस फ़ैसले का असर बैंकों व एटीएम मशीनों की बाहर लगी लंबी कतारों के तौर पर देखा जा सकता है.

जबकि नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दिए अपने बयान में कहा, "इस फ़ैसले को अचानक ही लागू किया जाना था. लेकिन मुझे पता नहीं था कि इसके लिए मुझे दुआएं मिलेंगी."

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ग़रीबों पर हुआ है बैन का सबसे ज़्यादा असर.

नरेंद्र मोदी ने इशारा किया है कि काले धन से निपटने के लिए कई और बड़े फ़ैसले भी जल्द लिए जा सकते हैं.

उधर वित्त मंत्री अरूण जेटली ने लोगों से धैर्य रखने की अपील करते हुए कहा है कि बैंकों और एटीएम में पुराने नोट बदले जाने के काम में कुछ हफ्ते लग सकते हैं क्योंकि देश में जो पैसे हैं उसका 85 प्रतिशत हिस्सा पांच सौ और हज़ार के नोटों का है.

जेटली ने बताया कि करीब 30 अरब डॉलर के पुराने नोट अभी तक बैंकों में जमा हो चुके हैं.

हालांकि उधर भारत के कई इलाक़ों में बैंकों और एटीएम में अफरा तफरी का माहौल देखने को मिल रहा है.

यह जरूर पढ़ें:

ग़रीब ही सबसे ज़्यादा क्यों सहें इसकी मार?

बैंकों में लगी भीड़, सोशल मीडिया गरमाया

500 और 1000 का नोट बंद होने से शेयर बाज़ार में हाहाकार

जेब में नोट फिर भी भूखा रहने को मजबूर यह बच्चा!

भारत की 'नोट बंदी' का असर विदेशों में भी

'पांच सौ का नोट कोई लेता नहीं, खुदरा है नहीं'

नोट की चोट से घायल बॉक्स ऑफ़िस

भारत सरकार ने पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को कुछ चुनिंदा जगहों पर 14 नवंबर तक चलाने के आदेश दिए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)