नाइक के एनजीओ पर पांच साल की पाबंदी

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK

सरकार ने मुस्लिम धर्म प्रचारक ज़ाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन पर पांच साल की पाबंदी लगा दी है.

नाइक की संस्था पर ग़ैर-क़ानूनी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगा है.

इसके पहले जाक़िर नाइक के एनजीओ पर विदेश से चंदा लेने पर रोक लगाई गई थी.

ये फ़ैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में किया गया.

इस सिलसिले में गृह मंत्रालय की ओर से औपचारिक अधिसूचना जल्द जारी की जाएगी.

गृह मंत्रालय ने अपनी जांच में पाया था कि ये एनजीओ अंतरराष्ट्रीय इस्लामी चैनल पीस टीवी से कथित तौर पर संदिग्ध रिश्ते रखता है. पीस टीवी पर भी कई आरोप लगते रहे हैं.

मंत्रालय के मुताबिक नाइक ने कथित तौर पर कई भड़काऊ भाषण दिए हैं. महाराष्ट्र पुलिस ने भी नाइक के ख़िलाफ़ आपराधिक मामला दर्ज किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)