सुषमा ने ख़ुद बताई बीमारी, अम्मा की ख़बर नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

दोनों मामल सेहत से ही जुड़े हैं लेकिन दोनों में गज़ब का अंतर है - तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता को अस्पताल में भर्ती हुए क़रीब दो महीने बीत चुके हैं, लेकिन उनकी सेहत के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है.

दूसरी तरफ़ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज हैं, जिनके अस्पताल में भर्ती होने के बारे में सभी को पता है. कैसे?

सुषमा स्वराज ने बुधवार सवेरे ट्वीट करते कहा, ''किडनी के काम ना करने की वजह से मैं एम्स में भर्ती हूं. फिलहाल डायलिसिस पर हूं. किडनी बदलने से जुड़े टेस्ट हो रहे हैं. भगवान कृष्ण सब ठीक करेंगे.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

सुषमा के इस ट्वीट ने भारतीय राजनीति का नया चेहरा दिखाया, जो खुलेपन से अक्सर बचती है.

अपोलो ग्रुप ऑफ़ हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ प्रताप सी रेड्डी के पिछले हफ़्ते आए बयान तक किसी को इस बात की जानकारी नहीं थी कि जयललिता की हालत में कितना सुधार आया है.

ठीक इसी तरह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बीमारी के बारे में कोई अंदाज़ा नहीं था, जब वो इलाज के लिए विदेश गई थीं.

डॉ रेड्डी ने पहली बार बताया कि जयललिता का इंफेक्शन नियंत्रण में है और अब वो सामान्य भोजन कर रही हैं. इसके बावजूद ये नहीं बताया गया कि वो इतने दिन से अस्पताल में क्यों भर्ती हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

जयललिता को 'डिहाइड्रेशन' की वजह से 22 सितंबर को चेन्नई के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाद में डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने जानकारी दी कि उन्हें किडनी की कोई दिक्क़त हो सकती है.

डॉ स्वामी ने ट्वीट किया था, ''जेजे को मेरी सलाह माननी चाहिए और मेडिकल जांच के लिए सिंगापुर जाना चाहिए. हम भले उनके विरोधी हों, लेकिन उनकी अच्छी सेहत और लंबी उम्र की कामना करते हैं.''

जब से वो अस्पताल में भर्ती हुईं, चेन्नई में क़यास जारी हैं. आलो पाल नाम के एक शख़्स ने लिखा, ''सर, जयललिता की सेहत के बारे में कोई पुष्ट जानकारी है? क़यास फैला है और भावनाओं का ज्वार आ सकता है.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

ऑब्ज़र्वर रिसर्च फाउंडेशन के रीजनल डायरेक्टर एन सत्यमूर्ति ने बीबीसी हिंदी से कहा, ''सिर्फ जयललिता नहीं, बल्कि किसी भारतीय नेता ने पद पर रहते हुए सुषमा स्वराज की तरह अपनी सेहत के बारे में इस तरह जानकारी नहीं दी है.''

उन्होंने कहा, ''इस मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अपवाद हैं. जब उनकी बाईपास सर्जरी हुई थी, तो उनके दफ़्तर ने खुलेआम इसकी जानकारी दी थी.''

सत्यमूर्ति ने कहा, ''आज नेता ख़ुद से जुड़ी चीज़ें इतनी गोपनीय रखते हैं, ऐसे में सुषमा स्वराज ने साहस के साथ अपनी सेहत के बारे में बताया है. सियासी रूप से देखें तो इसका मतलब ये भी हो सकता है कि हमें एक नया विदेश मंत्री मिल जाए.''

तमिलनाडु की बात करें, तो जयललिता अब भी सूबे की मुख्यमंत्री हैं और उनका कामकाज वित्त मंत्री ओ पन्नीरसेल्वम देख रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)