'मंदिरों-दरगाहों के चंदे में भी हुई कटौती'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी एक ख़ास रिपोर्ट में बताया है कि नोटबंदी के बाद से दरगाहों और मंदिरों को मिलने वाले चंदे में कमी आई है.

सरकार ने मंदिरों को आदेश दिया है कि वो मिलने वाले चंदे को रोज़ाना अपने बैंक खातो में जमा करवाएं. वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर ने बीते पांच दिनों में एक करोड़ बीस लाख रुपए अपने खाते में जमा कराए हैं.

मंदिरों और दरगाहों के प्रबंधकों का कहना है कि नोटबंदी के बाद से आने वालों लोगों की संख्या कम हुई है जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि दान मिलना भी कम हुआ है.

इंडियन एक्सप्रेस की ही एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रोफ़ेसर नंदिनी सुंदर और अर्चना विजय को क़त्ल के एक मामले में अभियुक्त बनाए जाने के लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से समन मिलने के बाद बस्तर के आईजी एसआरपी कल्लूरी और छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव विवेका ढांड के पेश होने की संभावना नहीं है.

मुख्य सचिव मुख्यमंत्री के साथ विदेश दौरे पर चले गए हैं जबकि आईजी कल्लूरी बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती हो गए हैं.

इमेज कॉपीरइट Alok Putul

2016 भारत प्रशासित कश्मीर में तैनात सुरक्षाबलों के लिए सबसे घातक साल साबित हो रहा है. द हिंदू के मुताबिक 2007 के बाद से इस साल पाकिस्तान की ओर से सबसे ज़्यादा घुसपैठ की घटनाएं हुई हैं. इस साल तीस सितंबर तक 63 सुरक्षाकर्मियों की मौत हमलों में हो चुकी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

द हिंदू की ही एक और रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात के टाइल कारोबार पर विमुद्रीकरण का नकारात्मक असर हुआ है. 600 के करीब फैक्ट्रियां बंद होने की कगार पर पहुँच गई हैं जिससे हज़ारों श्रमिकों पर रोजगार ख़त्म होने का ख़तरा मंडरा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)