पैसे निकालने में आरबीआई ने दी और रियायत

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारतीय रिज़र्व बैंक ने कहा है कि जो लोग 500 और 2000 के नए नोटों में बैंकों में पैसे जमा करते हैं वो मंगलवार यानी 29 नवंबर से मौजूदा तय सीमा से ज़्यादा रकम भी निकाल सकते हैं.

फिलहाल बैंक उपभोक्ताओं को चेक के ज़रिए अपने अकाउंट से हर हफ्ते 24,000 हज़ार रुपए तक ही निकालने की इजाज़त है.

लेकिन आरबीआई के नए निर्देशों के तहत वो नई मुद्रा में जितनी रकम जमा करेंगे, उतनी निकाल भी सकेंगे चाहे वो रकम तय सीमा से ज़्यादा क्यों न हो.

हालांकि जो पैसे वो निकालेंगे, वो रकम उन्हें आमतौर पर 2000 और 500 के नोटों में ही मिल सकेगी.

दरअसल आरबीआई ने ये क़दम उन कारोबारियों की परेशानियों को देखते हुए उठाया है जिनके पास प्रतिदिन 2000 और 500 के नए नोट जमा तो हो रहे हैं, लेकिन पैसे निकालने की निश्चित सीमा होने की वजह से और पैसे फंस जाने के डर से कारोबारी अपने पास जमा पैसे बैंकों में जमा नहीं कर पा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ये सुविधा कारोबारियों के लिए वैसी ही है जैसी नोटबंदी से पहले हुआ करती थी. हालांकि अब उन्हें जमा करनेवाली रकम नए नोटों के रूप में ही बैंक को देनी होगी.

आठ नवंबर की मध्यरात्रि से भारत सरकार ने काले धन पर लगाम लगाने के उद्देश्य से 500 और 1000 के नोटों को अवैध घोषित कर दिया था.

आरबीआई के मुताबिक 10 नवंबर से 27 नवंबर तक नोट बदलने और जमा करने के रूप में अब तक 8,44,982 करोड़ रुपए बैंक के पास आए हैं.

इनमें से 33,948 करोड़ रुपए के नोट बदले गए हैं जबकि 8,11,033 करोड़ रुपए जमा किए गए हैं.

आरबीआई ने बताया है कि इस दौरान लोगों ने बैंकों के काउंटर से और एटीएम के ज़रिए 2,16,617 करोड़ रुपए अपने अकाउंट से निकाले हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)