कुत्तों के लिए रखते हैं विदेशी कोच

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
जान बचाते कुत्ते

भारत में हर साल सर्दियों में कुत्तों के शौकीन और कुत्तों की ब्रीडिंग को पेशे के रूप में अपनाने वाले लोग देश भर में होने वाले डॉग शो में भाग लेते हैं.

देश में इस तरह की प्रदर्शनियों की पुरानी और समृद्ध परंपरा रही है. भारत में पहला डॉग शो 1896 में अंग्रेज़ों ने आयोजित किया था.

आजकल केनेल क्लब ऑफ इंडिया ही देश भर में इस तरह के शो का आयोजन करता है.

मंदिर में नेत्रहीन को कुत्ते के साथ प्रवेश नहीं. यहां देखें वीडियो

इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption यॉर्कशर टेरीयर नस्ल का कुत्ता अपने मालिक के साथ.

साधारण लोग इसे कुत्तों की सौंदर्य प्रतियोगिता समझ सकते हैं. लेकिन डॉग शो से जुड़े लोग इसे काफ़ी गंभीरता से लेते हैं.

कुत्ते पालना गंदा काम है

वे विदेशों से बेहतरीन नस्ल के कुत्ते मंगवाते हैं, उनकी परवरिश के लिए काफ़ी पैसे खर्च कर विदेशी प्रशिक्षक को नौकरी पर रखते हैं और हवाई यात्रा पर पैसे खर्च कर कोने-कोने में होने वाले शो में भाग लेते हैं.

कुत्ते पहचानते हैं भापका भाव. यहां देखें वीडियो

इनमें से ज़्यादातर लोग इसे पेशे के रूप में अपनाते हैं और पैसे कमाने की उम्मीद भी करते हैं.

कुत्तों का 'कैटवॉक' देखेंगे?

रंग बिरंगे कुत्तों के निराले रंग ढंग

अदा मुझमें भी नहीं है कुछ कम....

दिल्ली में रहने वाले फ़ोटोग्राफ़र करण वैद के माता-पिता कई बार डॉग शो में जज की भूमिका में होते हैं. करण ख़ुद डॉग शो में मौजूद रहते हैं और उसकी तस्वीरें उतारते हैं.

इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption उत्तर प्रदेश के बरेली में आयोजित शो में फ्रेंच बुलडॉग.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption दिल्ली में 2015 में आयोजित एक शो में भाग लेते लैब्रडर नस्ल के कुत्ते.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption मुंबई में 2015 में आयोजित शो के दौरान ग्रेट डेन नस्ल का कुत्ता.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption कोलकाता में आयोजित डॉग शो में क्रॉकर स्पैनियल नस्ल का कुत्ता.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption तमिलनाडु के नागरकोल में 2014 में हुए डॉग शो में इंगलिस सेटर और जर्मन शेफ़र्ड ने पुरस्कार जीते थे.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption पंजाब के लुधियाना में 2013 में आयोजित डॉग शो में एक हैंडलर.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption नवंबर 2014 में पटियाला में आयोजित एक शो में डोबरमैन.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption पंजाब के लुधियाना में एक डॉग शो के पहले लैब्रडर और पग नस्ल के कुत्ते.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption जयपुर, राजस्थान में 2014 में हुए डॉग शो के एक जज ने कुत्तों के प्रति अपना प्रेम कुछ इस तरह दिखाया.
इमेज कॉपीरइट KARAN VAID
Image caption उत्तराखंड में 2014 में एक शो के दौरैान एक मिनिएचर पिंशर

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)