मौन हो गईं तमिलनाडु की अम्मा!

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सोमवार पांच दिसंबर रात 11.30 बजे तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता ने दुनिया को अलविदा कह दिया. उनके पार्थिव शरीर को राजाजी हॉल में मंगलवार शाम तक रखा जाएगा.

इमेज कॉपीरइट @AIADMK

तिरंगे में लिपटा तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता का पार्थिव शरीर लोगों के दर्शनों के लिए बड़े हॉल में रखा गया.

इमेज कॉपीरइट @AIADMK

बाहर अम्मा के अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ा जनसमूह.

इमेज कॉपीरइट PMO INDIA

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि देने चेन्नई पहुंचे.

इमेज कॉपीरइट Dev Ashish

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की श्रद्धाजंलि को टीवी स्क्रीन पर देखते लोग.

इमेज कॉपीरइट AFP

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की मौत से पहले रविवार की रात उनकी सलामती के लिए मुम्बई के मंदिर में समर्थक प्रार्थना करते हुए.

इमेज कॉपीरइट AFP

अपोलो अस्पताल में जयललिता 22 सितंबर से भर्ती थीं, रविवार को उन्हें कॉर्डियक अरेस्ट के बाद आईसीयू में भर्ती कराया गया था. चेन्नई में रविवार को अस्पताल के बाहर उनकी सलामती के लिए दुआ मांगी गईं.

इमेज कॉपीरइट Dev Ashish

अम्मा की मौत के बाद हैरान-परेशान लोग.

इमेज कॉपीरइट Dev Ashish

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के घर के बाहर बैठे लोग.

इमेज कॉपीरइट dev ashish

अम्मा की मौत के बाद शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात पुलिस बल.

इमेज कॉपीरइट Image copyrightIMRAN QURESHI

जब जयललिता के शव को अपोलो अस्पताल से ले जाया गया तो लोग 'अम्मा अमर रहें' के नारे लगा रहे थे.

इमेज कॉपीरइट AP

जयललिता की मौत के बाद उनके मृत शरीर को एंबुलेस में ले जाने के दौरान उनके कुछ समर्थक उनके साथ-साथ भाग रहे थे.

इमेज कॉपीरइट AP

अपोलो अस्पताल के बाहर तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की मौत के बाद समर्थक शोक मनाते हुए.

इमेज कॉपीरइट AP

चेन्नई और पूरे तमिलनाडु में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया. पोयस गार्डन इलाके में भी सुरक्षा के भारी इंतज़ाम किए गए.

इमेज कॉपीरइट IMRAN QURESHI

तमिल सिनेमा की रानी' कही जाने वाली जयललिता उन गिनी-चुनी अभिनेत्रियों में से थीं जिन्होंने बड़े पर्दे पर बोल्ड सीन किए. अम्मा का रूपहले पर्दे से लेकर राजनीति का सफ़र उतार-चढ़ावों से भरा रहा, लेकिन अपने चाहने वालों के लिए वह हमेशा अम्मा यानी मां ही रहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे