पाक बाज़ न आया तो शायद 10 टुकड़े हो जाएं: राजनाथ

इमेज कॉपीरइट EPA

भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि पाकिस्तान 'आतंकवाद' के ज़रिए भारत को अस्थिर करने की कोशिशें कर रहा है.

रविवार को भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के कठुआ में 'शहीद दिवस' पर बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, "आतंकवाद के सहारे वो जम्मू-कश्मीर को भारत से अलग करना चाहते हैं. आतंकवाद बहादुरों का नहीं कायरों का हथियार होता है."

समाचार एजेंसियों के अनुसार उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को करगिल युद्ध में हार का सामना करना पड़ा था और वो समझ चुका है कि भारत को सीधे पराजित नहीं किया जा सकता है.

उन्होंने कहा, "अभी तो पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए हैं अगर पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आया तो पाकिस्तान के शायद दस टुकड़े हो जाएँ..."

राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान भारत को धर्म के आधार पर बांटने की कोशिश कर रहा है.

ये भी पढ़ें- राजनाथ सिंह के कश्मीर दौरे से क्या हासिल?

ये भी पढ़ें- 'पाकिस्तान भारत से बातचीत की भीख नहीं मांग रहा'

ये भी पढ़ें- 'ग़नी वही बोले जो भारत सुनना चाहता था'

राहल गांधी का आरोप

कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राजनाथ सिंह के बयान का जवाब ट्विटर पर दिया.

उन्होंने ट्वीट में लिखा, "हां राजनाथ सिंह जी, पाकिस्तान धर्म के नाम पर भारत को तोड़ने की कोशिश कर रहा है. क्या आपको इस बात का आभास है कि आप और आपके बॉस भी यही कर रहे हैं?"

राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान पर बार-बार संघर्षविराम के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा था, "कभी न कभी पाकिस्तान भी हमारे ही परिवार का अंग रहा है, लेकिन हम उसे अलग नहीं मानते. उन पर गोली चलाना नहीं चाहते. कारगिल युद्ध के बाद अटल जी ने पाकिस्तान की ओर दोस्ती का हाथ बढ़ाया लेकिन उन्होंने बदले में क्या दिया? संघर्षविराम का उल्लंघन."

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारत पाक सीमा पर आजकल तनाव है.

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा था कि पाकिस्तान यदि 'आतंकवाद' से निपटने के लिए भारत का सहयोग चाहता है तो भारत मदद करने के लिए तैयार है.

पिछले कई महीनों से भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर तनाव चल रहा है. दोनों ही देश एक दूसरे पर अंदरूनी मामलों में दख़ल देने का आरोप लगाते रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे