चक्रवात वरदा से अब तक सात की मौत

इमेज कॉपीरइट AFP

आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु में चक्रवात वरदा की वजह से अब तक कम से कम सात लोगों की मौत हो चुकी है. कई जगहों पर भारी पेड़ सड़कों पर गिर गए हैं और बिजली सप्लाई बंद हो गई है.

पढ़ें: जानिए चक्रवात के नाम रखे कैसे जाते हैं

दोनों ही प्रदेशों के तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है और कई जगह तूफ़ान की रफ़्तार 140 किलोमीटर प्रति घंटा दर्ज की गई है. हालांकि बाद में तूफ़ान थोड़ा कमज़ोर पड़ गया और इसकी रफ़्तार अब 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटा ही रह गई है.

आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में प्रशासन ने प्रभावित क्षेत्र के लोगों से अपील की है कि वो घरों में ही रहें.

इमेज कॉपीरइट AFP

हैदराबाद मौसम विभाग के निदेशक डॉक्टर वाईके रेड्डी ने स्थानीय पत्रकार इमरान क़ुरैशी को बताया, "दक्षिणी आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक के कई इलाकों में अगले 12 घंटों में भारी बारिश की आशंका है. मंगलवार सुबह तक तूफ़ान आंध्रप्रदेश की रायलसीमा से गुज़रता हुआ कर्नाटक के पूर्वी हिस्से में प्रवेश कर सकता है."

प्रभावित इलाकों से हज़ारों लोगों को सुरक्षित स्थान की ओर ले जाया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY

तूफ़ान के असर की वजह से कई उड़ानें रद्द कर दी गई हैं और रेल यातायत पर भी असर पड़ा है.

ऐहतियात के तौर पर फ़िलहाल स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे