बेटा कैसे पैदा हो, अख़बार दे रहा है सलाह!

इमेज कॉपीरइट Getty Images

केरल के अख़बार मंगलम ने औरतों को ऐसे छह नुस्खे बताए हैं जिन्हें अपनाकर, अख़बार के मुताबिक, वो लड़का पैदा कर सकती हैं.

स्वास्थ्य संबंधी जानकारी वाले ख़बरों के पेज पर छपे लेख में कहा गया है कि अगर महिला ख़ूब खाना खाती है और पश्चिम की तरफ़ मुंह करके सोती है, तो वो लड़का पैदा कर सकती है.

इसी तरह की एक और सलाह है जिसमें बताया गया है कि महिलाओं को हफ़्ते के किस-किस दिन संभोग करना चाहिए और सुबह का नाश्ता कभी नहीं छोड़ना चाहिए.

लेख के मुताबिक सप्ताह के कुछ ख़ास दिन शुक्राणु अधिक सक्रिय होते हैं जिससे लड़का पैदा होने की संभावना बढ़ती है.

लेख में कहा गया है कि मर्द खट्टा वग़ैरह खाना छोड़कर शुक्राणु को मज़बूत कर सकते हैं.

ग़ौरतलब है कि ऐसा कहीं भी मेडिकल साइंस ने सिद्ध नहीं किया है कि इस तरह की जानकारियों का लड़कों के पैदा होने से कोई तालुक्क़ है.

महिलाओं के अधिकारों की बात करनेवाली वेबसाइट द लेडीज़ फिंगर ने इस लेख का अनुवाद प्रकाशित किया है.

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

पत्रिका ने व्यंग्यात्मक लहजे में टिप्पणी की है , "लिंग परीक्षण के ख़िलाफ़ बने सारे क़ानूनों के मद्देनज़र ये बड़ी राहत की बात है कि कम से कम इस मामले में एक चेकलिस्ट है जिसे लड़का पैदा करने के लिए अपनाया जा सकता है."

चिकित्सक शाज़िया मलिक का कहना है कि किसे लड़का होगा या किसे लड़की, ये सिर्फ़ भाग्य की बात होती है.

हालांकि भारत में लिंग परीक्षण ग़ैर-क़ानूनी है, लेकिन इस पर पूरी तरह रोक नहीं लग पाई है.

साल 1961 में भारत में लड़कियों और लड़कों का अनुपात 976 : 1000 था जबकि पिछली जनगणना (2011) के मुताबिक़ अब लड़कियों की तादाद कम होकर 914 पर पहुंच गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)