सुषमा फॉरेन पॉलिसी मैगज़ीन के ग्लोबल थिंकर्स में

इमेज कॉपीरइट Reuters

विदेश नीति पर आधारित फॉरेन पॉलिसी मैगज़ीन ने भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्विटर का नायाब इस्तेमाल करने के लिए उनका नाम साल 2016 की ग्लोबल थिंकर्स सूची में डाला है.

मैगज़ीन ने सुषमा स्वराज का नाम 'डिसिज़न मेकर्स' या फैसला लेने वालों की श्रेणी में शामिल किया है.

भारतीयों ने सुषमा को ट्वीट की दर्द, बेबसी की दास्ताँ

सऊदी में 10 हज़ार भारतीय भूखे-प्यासे हैं: सुषमा

'सऊदी में कोई भारतीय श्रमिक भूखा नहीं सोएगा'

इमेज कॉपीरइट AP

मैगज़ीन ने लिखा है कि जुलाई महीने में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सऊदी अरब में 10,000 भारतीय मज़दूरों के 'खाद्य संकंट' के बारे में ट्वीट किया था.

इसके बाद सोशल मीडिया पर एक लंबा अभियान चला और स्वराज ने इन प्रवासियों के बारे में जानकारियां ट्वीट कीं, जिनमें इन प्रवासियों को भारतीय दूतावास से दिए जा रहे राशन, वेतन भुगतान और इन लोगों की घर वापसी के ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा देना शामिल था.

मैगज़ीन ने ये भी लिखा कि ऐसा पहली बार नहीं है जब विदेशों में रहने वालों की उन्होंने कम्पयूटर के ज़रिए मदद की हो. यमन से भारतीयों को निकालना भी इसमें शामिल है.

मैगज़ीन के अनुसार स्वराज को ट्विटर पर सक्रिय रहने के लिए निक नेम या उपनाम 'दि कॉमन ट्वीपल्स लीडर' भी दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट PMO Twitter

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर सुषमा स्वराज को बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया है, ''हमारी मेहनती सुषमा स्वराज को फॉरेन पॉलिसी ग्लोबल थिंकर्स की सूची में शामिल किया गया है. ये बहुत गर्व की बात है.''

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ट्विटर पर काफी सक्रिय रहती हैं.

हाल में वे गुर्दा प्रत्यारोपण की सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती हुई थीं और उनकी सफल सर्जरी हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे