जेईई मेन-2017 में हर छात्र को दिखाना होगा आधार कार्ड

जेईई एग्ज़ाम इमेज कॉपीरइट NOAH SEELAM/Getty Images

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा इंजीनियरिंग के लिए हर साल कराए जाने वाले जॉइंट एंट्रेंस एग्ज़ाम के हर भारतीय परीक्षार्थी के लिए पहचान पत्र के तौर पर 'आधार कार्ड' पेश करना अनिवार्य होगा.

2017 में होने वाले जॉइंट एंट्रेंस एग्ज़ाम (मेन) से यह शर्त लागू की जाएगी.

इसे लेकर सीबीएसई ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर एक स्पष्टीकरण भी जारी किया है, जिसमें कहा गया है:

  • 2017 में होने वाले मेन एग्ज़ाम में सभी भारतीय परीक्षार्थियों को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण द्वारा जारी किया गया आधार कार्ड दिखाना अनिवार्य होगा.
  • फॉर्म भरते वक्त भी छात्रों को आधार नंबर भरना होगा.
  • जिन छात्रों के पास आधार कार्ड नहीं हैं, उनके लिए सीबीएसई ने कई शहरों में 'अस्थायी आधार कार्ड सेंटर' बनाए हैं.
  • इनकी लिस्ट भी सीबीएसई की साइट पर जारी की गई है.
  • आधार कार्ड पेश करने की अनिवार्य शर्त असम, मेघालय व जम्मू और कश्मीर के छात्रों पर लागू नहीं होगी.

1 दिसंबर से शुरू हो चुके जॉइंट एंट्रेंसएग्ज़ाम के ऑनलाइन प्रोसेस को लेकर सीबीएसई ने एक सुझाव भी दिया है कि सभी छात्र स्कूल के रेकॉर्ड में और आधिकारिक कागज़ों में जन्मतिथि और नाम को बिल्कुल एक जैसा रखें.

दोनों के बीच मामूली अंतर होने पर भी कंप्यूटर द्वारा फॉर्म रिजेक्ट कर दिया जाएगा.

2017 के जॉइंट एंट्रेंस एग्ज़ाम के लिए आवेदन करने की आख़िरी तारीख़ 2 जनवरी, 2017 है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी में अन्य जगह