'दिल्ली में हर चार घंटे में दर्ज होता है रेप का एक केस'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बलात्कार के ख़िलाफ़ प्रदर्शन में शामिल युवतियां (फ़ाइल फ़ोटो)

'बढ़े हैं रेप के मामले'

राजधानी दिल्ली में बीते चार सालों के दौरान बलात्कार के मामलों में इजाफ़ा हुआ है.

अख़बार 'हिंदुस्तान टाइम्स' ने आंकड़ों के आधार पर जानकारी दी है कि दिल्ली में हर चार घंटे में बलात्कार का एक मामला दर्ज़ होता है.

अख़बार लिखता है कि चार साल पहले 16 दिसंबर को एक युवा महिला के साथ बस में हुए सामूहिक बलात्कार के बाद ये माना गया था कि महिला सुरक्षा को लेकर रुख में बदलाव आएगा, लेकिन चार साल के दौरान स्थिति और ख़राब हुई है.

अख़बार ने बताया है कि दिल्ली में साल 2012 में बलात्कार के 706 मामले सामने आए थे, जबकि 2016 में 2199 मामले दर्ज़ हुए हैं.

यह भी पढ़ें: नाबालिग का रेप- 'दिल्ली को कितनी निर्भया चाहिए?'

#100Women: आधी रात को सड़कों पर निकलती हैं ये औरतें

अख़बार के मुताबिक पुलिस का कहना है कि इसकी वजह ये है कि 2012 की घटना के बाद ज्यादा महिलाएं शिकायत दर्ज़ कराने के लिए आगे आ रही हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

'सेना में मुस्लिमों की दाढ़ी पर बैन'

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि भारतीय वायु सेना में मुस्लिम सैनिक मजहब के आधार पर दाढ़ी नहीं रख सकते हैं.

'द इंडियन एक्सप्रेस' के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने दो अलग-अलग याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए भारतीय वायु सेना में 'अनुशासन कायम' रखने पर ज़ोर दिया है.

इसे भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने हाइवे पर शराब बिक्री को किया बैन

इनमें से एक याचिका वायु सेना में एयरमैन रहे अंसारी आफ़ताब अहमद ने दाखिल की थी.

अपने कमांडिंग अफ़सर की इजाज़त के बिना दाढ़ी रखने को लेकर उन्हें साल 2008 में बर्खास्त कर दिया गया था.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

'कैशलेस नहीं लेसकैश व्यवस्था चाहिए'

'द स्टेट्समैन' के मुताबिक वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि डिजिटल ट्रांजिक्शन नकद लेन-देन का विकल्प नहीं, बल्कि एक समानांतर व्यवस्था है.

यह पढ़ें: आबादी बड़ी है तो लाइनें तो बड़ी ही होंगी: जेटली

अख़बार के मुताबिक जेटली ने कहा है कि कोई अर्थव्यवस्था पूरी तरह से नकद विहीन नहीं हो सकती.

नकदी विहीन अर्थव्यवस्था वास्तव में 'लेसकैश' यानी नकदी के सीमित इस्तेमाल की व्यवस्था है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

'नोटबंदी का असर बीजेपी की चुनावी संभावनाओं पर'

'द इंडियन एक्सप्रेस' के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी के पूर्वी उत्तर प्रदेश के सांसदों ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को जानकारी दी है कि अगर जनवरी के मध्य तक नकदी संकट का समाधान नहीं हुआ, तो इसका असर पार्टी की चुनावी संभावनाओं पर पड़ सकता है.

बीबीसी पर पढ़ें: अमित शाह ने नीतीश कुमार को सराहा

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं.

अख़बार के मुताबिक सांसदों ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पार्टी के पक्ष में बना माहौल नोटबंदी के बाद हो रही परेशानी की वजह से फीका पड़ गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

'नोएडा के एक बैंक में छापेमारी'

'द टाइम्स ऑफ इंडिया' की ख़बर के मुताबिक आयकर विभाग ने गुरुवार को एक्सिस बैंक की नोएडा सेक्टर-51 की शाखा पर छापेमारी की.

अख़बार के मुताबिक, अधिकारियों ने 20 फ़र्जी खातों में जमा किए गए 60 करोड़ रुपये का पता लगाया.

इसे पढ़ें: बैंकों को गोरखधंधे में फंसाने की जुगत

हाल में इन खातों में दो-तीन करोड़ रुपये का लेन देन होने के बाद विभाग हरकत में आया.

इमेज कॉपीरइट AFP

'द टाइम्स ऑफ इंडिया' के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई प्रमुख अनुराग ठाकुर को चेतावनी दी है कि उन्हें 'जेल जाना पड़ सकता' है.

इन ख़बरों को भी देखें: सुप्रीम कोर्ट: बीसीसीआई माने लोढ़ा कमेटी का कहा

बीसीसीआई क़ानून से ऊपर नहीं: सुप्रीम कोर्ट

अख़बार के मुताबिक मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर की अगुवाई वाली बैंच ने कहा कि ठाकुर ने कोर्ट को गुमराह किया है.

ऐसे में वो बोर्ड प्रमुख के पद पर नहीं बने रह सकते हैं. कोर्ट में बीसीसीआई और ठाकुर की ओर से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल पेश हुए थे.

अख़बार के मुताबिक कोर्ट ने उनसे कहा, "अगर आप बचना चाहते हैं तो माफी मांगें."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार