गुजरात में 'चायवाले से साढ़े दस करोड़ ज़ब्त'

इमेज कॉपीरइट AFP

आयकर विभाग के अधिकारियों के मुताबिक गुजरात के सूरत में छापे मारेने के बाद एक व्यक्ति से साढ़े दस करोड़ रुपए की 'बिना हिसाब-किताब' की संपत्ति बरामद की गई है.

सूरत के जिस व्यक्ति के यहां छापा मारा गया है वो फ़ाइनेंसर हैं जो पहले चाय की दुकान चलाते थे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ अधिकारियों ने 1.45 करोड़ रुपए कैश, जिसमें 1.05 करोड़ के नए नोट थे, 1.49 करोड़ रुपए कीमत का सोना, 4.92 करोड़ रुपए के सोने के जेवर, 1.39 करोड़ रुपए क़ीमत के अन्य आभूषण और 1.28 करोड़ रुपए की क़ीमत की चांदी की सिल्लियां बरामद की गईं.

आयकर विभाग ने संबंधित व्यक्ति की पहचान जाहिर नहीं की है.

पढ़ें- नोटबंदी- रहस्य बना ज़ब्त 2000 के नए नोटों का स्रोत

पढ़ें-नोटबंदी के 50 दिनों का काउंटडाउन शुरू

पढ़ें-क्या नोटबंदी नए भ्रष्टाचार को जन्म दे रही है

Image caption ये सवाल उठ रहा है कि जब बैंकों से सीमित पैसा निकल सकता है तो बड़ी मात्रा में ये नए नोट कहां से आ रहे हैं?

अधिकारियों के मुताबिक अभी तक 13 बैंक लॉकर खोले गए हैं और चार और खोले जाने बाकी हैं.

ये कार्रवाई नोटबंदी के बाद से काले धन के ख़िलाफ़ चलाए जा रहे अभियान के तहत की गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे