दूसरा विश्व युद्ध: भारत में अमरीकी सैनिकों के अवशेष

Image caption अरुणाचल प्रदेश के गांव में मिले अवशेष

भारत में पूर्वोत्तर राज्य अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर आई एक अमरीकी टीम का कहना है कि यहां मिले अवशेष दूसरे विश्व युद्ध के दौरान विमान हादसे में मारे गए सैनिकों के हो सकते हैं.

लोअर दिबांग घाटी के स्थानीय लोगों ने हाल ही में अमरीकी टीम को ये अवशेष सौंपे थे.

पिछले साल इसी इलाके में कुछ और अवशेष मिले थे जिनकी पहचान की कोशिश की जा रही है.

ऐसा माना जाता है चीन और म्यामांर की सीमा के पास इस सीमाई इलाके में 400 से ज़्यादा अमरीकियों के अवशेष मिल सकते हैं.

इनमें से ज़्यादातर सैनिक जापान के साथ लड़ाई में चीन को मदद पहुंचाने के मित्र देशों के अभियान के दौरान गायब हुए थे.

अमरीका युद्धबंदियों और गायब हुए सैनिकों के लिए ऐसी टीम भेजता है. टीम के सदस्यों ने 10,000 फुट ऊपर चढ़ाई की. ऐसा माना जाता है कि हिमालय की इसी पर्वतीय श्रंखला पर एयरक्राफ्ट हादसे का शिकार हुआ था.

कोलकाता स्थित अमरीकी वाणिज्य दूतावास की तरफ़ से एक बयान जारी कर कहा गया , '' जब टीम यहां पहुंची तो अवशेष मिले हैं जो अमरीकी सैनिकों के हो सकते हैं. भारत सरकार से अनुमति मिल जाएगी तो ये अवशेष डीपीएए की लैब में पहचान के लिए भेजे जाएंगे .''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे