अन्ना ने केजरी से पूछा, चंदे की सूची क्यों हटाई?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

समाजसेवी अन्ना हज़ारे ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लिखे पत्र में पार्टी को मिले चंदे से जुड़े सवाल उठाए हैं.

आम आदमी पार्टी चंदा देने वालों की सूची अपनी वेबसाइट पर जारी करती रही है.

लेकिन अन्ना हज़ारे ने अपने पत्र में कहा है कि उन्हें पता चला है कि जून 2016 के बाद से पार्टी ने ये सूची हटा ली है.

पार्टी की वेबसाइट पर फिलहाल ये दानदाताओं की सूची उपलब्ध नहीं है.

पढ़ें- केज़रीवाल को 'भिखारी ने दिया चंदा'

पढ़ें- केजरीवाल: मोदी जी पहले खुद त्याग करें

23 दिसंबर को लिखे पत्र में अन्ना ने केजरीवाल से कहा है कि वो अपनी कथनी और करनी में फर्क न रखें.

अन्ना ने लिखा, "आपके मुख्यमंत्री बनने के बाद मैं पहली बार मजबूरी में आपको पत्र लिख रहा हूँ, जिस पवित्र राजघाट से हमने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आंदोलन किया था उसी राजघाट पर कुछ लोग आम आदमी पार्टी को चंदा बंद सत्याग्रह कर रहे हैं."

इमेज कॉपीरइट AAP

अन्ना ने लिखा, "आपने चंदे का हिसाब अपनी वेबसाइट पर देने का वादा किया था, लेकिन ये वादे नहीं निभाए गए."

अन्ना ने लिखा, "व्यवस्था में परिवर्तन लाना है तो शब्द और कृति को जोड़ने वाली लीडरशिप की ज़रूरत है."

अन्ना के पत्र पर अभी केजरीवाल की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया है. हालाँकि वेबसाइट पर डोनेशन लिस्ट पर 'अंडर कंस्ट्रक्शन' लिखा हुआ है.

सोशल मीडिया पर केजरीवाल पर निशाना भी साधा जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट ANNA HAZARE

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू ने लिखा, "अन्ना ने केजरीवाल को लिखा तुमने मेरे सपने तोड़ दिए हैं. अन्नाजी के दर्द की कल्पना कीजिए."

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया, "अन्ना हज़ारे केजरीवाल पर बरसे और कहा कि पार्टी फंडिंग पर सवाल उठाए."

एक यूजर आरती शुक्ला ने हज़ारे को कठघरे में खड़ा किया और ट्वीट किया, "हज़ारे हमेशा कांग्रेस और आप के खिलाफ होते हैं, लेकिन बीजेपी के घोटालों पर कभी कुछ नहीं कहा."

बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे