प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की 10 ख़ास बातें'

इमेज कॉपीरइट REUTERS/Shailesh Andrade

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में नोटबंदी से लेकर इंग्लैंड पर भारत की जीत तक के कई मुद्दों पर देश को संबोधित किया.

34 मिनट की 'मन की बात' में मोदी ने काला धन, भ्रष्टाचार और कैशलेस के सवाल पर अपनी सरकार के रुख को फिर से दोहराया.

पढ़ें- जानिए, कैशलेस पेमेंट से कैसे कट जाती है जेब?

पढ़ें- नोटबंदी के 46वें दिन मोदी बोले, 30 दिसंबर के बाद सब ठीक होगा

पढ़ें- नोटबंदी की हदों से बाहर राजनीतिक चंदे

'मन की बात' की दस खास बातें

इमेज कॉपीरइट EPA
  • देश में ऑनलाइन भुगतान कैसे करना, इसकी जागरूकता तेज़ी से बढ़ी है. आपके अगल-बगल में जो नौजवान होंगे, आप थोड़ा-सा उनको पूछोगे, वो बता देंगे.
  • हमने कड़े प्रावधानों के साथ बेनामी प्रॉपर्टी कानून को नए सिरे से बनाया है. क़ानून सब के लिए समान होता है, चाहे व्यक्ति हो, संगठन हो या राजनैतिक दल. .
  • आम लोगों द्वारा दी गई जानकारियों के कारण नोट जब्त किए जा रहे हैं और दोषियों को पकड़ा जा रहा है.
  • नौजवानों ने स्टार्ट अप से काफ़ी प्रगति की है लेकिन देश को काले धन, भ्रष्टाचार से मुक्त कराने के अभियान में पूरी ताक़त से जुड़ना चाहिए.
  • एक संवेदनशील सरकार होने के नाते जितने भी नियम बदलने पड़े, बदले, ताकि लोगों की परेशानी कम हो.
इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY
  • अफ़वाहों को भी बेनक़ाब कर दिया और सच्चाई सामने लाकर रख दी. मैं जनता के इस सामर्थ्य को भी शत-शत नमन करता हूँ.
  • अफ़वाह फैली कि नोट पर लिखी स्पेलिंग ग़लत है. नमक का दाम बढ़ा, 2000 के नोट भी जाने वाले हैं, लेकिन देशवासियों के मन को कोई डिगा नहीं सका.
  • भ्रष्टाचार और कालेधन जैसी लड़ाई को भी साम्प्रदायिकता के रंग से रंगने का भी प्रयास किया गया.
  • जब जनता कष्ट झेलती है तो कौन इंसान होगा जिसको पीड़ा न होती हो. जितनी पीड़ा आपको होती है उतनी ही पीड़ा मुझे भी होती है.
  • कैशलेस कारोबार 200 से 300% बढ़ा है. जो व्यापारी डिजिटल लेन-देन करेंगे ऐसे व्यापारियों को इनकम टैक्स में छूट दी जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे