दातून तोड़ने के 'जुर्म' में दलित की हत्या, दो गिरफ़्तार

इमेज कॉपीरइट Reuters

उत्तर प्रदेश के बांदा ज़िले में विवादित जगह पर लगे एक पेड़ से एक दलित युवक का दातून तोड़ना इलाक़े के ही कुछ कथित दबंगों को नागवार गुज़रा.

पुलिस के मुताबिक महुई गांव की इस घटना में दलित युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई और गोली लगने के कारण दो और लोग घायल हो गए.

बांदा के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर श्रीपति मिश्र ने बीबीसी को बताया कि ये घटना रविवार सुबह की है और असल मामला ग्राम समाज की ज़मीन का है जिसे दोनों पक्ष अपना-अपना दावा करते हैं.

दलितों को पिछड़ा बनाने पर क्यों तुली है सपा सरकार

दलितों की हीन भावना मिटाने में जुटे हैं सूरजपाल

उत्तर प्रदेश : वरिष्ठ पुलिस अधिकारी की हत्या

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, "लल्लू नाम का व्यक्ति विवादित ज़मीन पर लगे पेड़ से दातून तोड़ रहा था. अभियुक्तों ने उसे ऐसा करने से मना किया, और फिर उसके न मानने पर उस पर फ़ायरिंग शुरू कर दी."

डॉक्टर श्रीपति मिश्र ने बताया कि मामले में पांच लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया गया है जिनमें से मुख्य अभियुक्त विश्राम सिंह समेत एक अन्य को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

उन्होंने बताया कि हत्या में इस्तेमाल हुई बंदूक को भी ज़ब्त कर लिया गया है.

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक अभियुक्तों का आपराधिक रिकॉर्ड है.

पहले से ही इनके ख़िलाफ़ कई मुक़दमे दर्ज हैं. अन्य अभियुक्तों की तलाश में पुलिस कई जगह छापेमारी कर रही है लेकिन इलाक़े में तनाव बना हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे