पैसे निकासी पर लगी रोक हटाई जाए: राहुल गांधी

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार से मांग की है कि बैंक खातों से पैसे निकालने से जुड़े तमाम प्रतिबंध तुरंत ख़त्म किए जाएं.

राहुल गांधी का कहना था कि सरकार ने हर हफ्ते 24 हज़ार रूपए निकालने की जो सीमा तय की है उसे खत्म किया जाए. साथ ही सरकार उन लोगों की सूची भी जारी करे जिन्होंने नोटबंदी से पहले अपने खातों में 25 लाख या उससे अधिक की रकम जमा की है.

पीएम मोदी के नोटबंदी के यज्ञ में किसानों की बलि चढ़ी: राहुल

नोटबंदी: जेटली ने डिजिटल इकॉनोमी पर बिल गेट्स का हवाला दिया

नोटबंदी के 46वें दिन मोदी ने कहा- 30 दिसंबर के बाद सब ठीक होगा

राहुल गांधी के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट (@OfficeOfRG ) पर कहा गया है कि नोटबंदी का यज्ञ एक फ़ीसद बहुत ही धनी लोगों के लिए किया गया है. इसमें "हिन्दुस्तान के गरीबों, किसानों, मजदूरों, मिडिल क्लास और छोटे दुकानदारों की बलि चढ़ाई जा रही है."

पार्टी के स्थापना दिवस पर कांग्रेस ने नोटबंदी से जुड़ा एक मांगपत्र जारी किया है और प्रधानमंत्री से कहा है कि नोटबंदी से जुड़े सभी सवालों का जवाब प्रधानमंत्री को देना ही होगा.

इमेज कॉपीरइट Laxman Bagul

इस मांगपत्र में सरकार से पूछा गया है कि नोटबंदी लागू करने से अब तक कितने काले धन का पता चल गया है. यह भी पूछा गया है कि सरकार के इस फ़ैसले का देश की अर्थव्यवस्था पर क्या असर पड़ा है.

यह सवाल भी उठाया गया है कि इस फ़ैसले के बाद से अब तक कितने लोगों की नौकरी गई है.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

सरकार से कहा गया है कि वह बताए कि नोटबंदी की वजह से मारे गए लोगों के रिश्तेदारों को कितना मुआवज़ा दिया गया है.

कांग्रेस ने अपने मांगपत्र में पांच मांगें रखी हैं.

कांग्रेस ने मांग की है कि ग़रीबी रेखा से नीचे की हर महिला के खाते में सरकार 25,000 रुपए जमा कराए. ये वे महिलाएं हैं, जिन्हें नोटबंदी का ख़ामियाज़ा भुगतना पड़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे