अखिलेश ने दिखाए बग़ावती तेवर!

इमेज कॉपीरइट Pti

समाजवादी पार्टी अब लगभग दो धड़ों में बँट चुकी लगती है.

मुलायम और शिवपाल के साथ बैठक के बावजूद कोई बात न बन पाने के बाद मुख्यमंत्री ने पहले तो अपने समर्थकों को निर्दलीय मैदान में उतरने की हरी झंडी दिखाई और बृहस्पतिवार रात 235 उम्मीदवारों की एक कथित सूची भी जारी कर दी.

हालांकि इस सूची को लेकर देर रात तक असमंजस की ही स्थिति बनी हुई थी. अखिलेश के क़रीबी कहे जाने वाले समाजवादी पार्टी के एक विधायक ने इस सूची को सही बताया और कहा कि ये पार्टी के नए कार्यालय जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट की ओर से जारी हुई है, लेकिन जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट की ओर से इसकी औपचारिक पुष्टि नहीं हुई.

चुनाव तक अखिलेश, शिवपाल एक तंबू में रह पाएंगे?

अखिलेश को मुलायम ने फिर दिया झटका?

'सपा के घमासान का सीधा फायदा भाजपा को'

इमेज कॉपीरइट AKHILESH YADAV TWITTER

बहरहाल इस लिस्ट के मुताबिक अखिलेश यादव ने यूपी की 403 विधानसभा सीटों में से सीटों 235 सीटों पर उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की है और जल्द ही दूसरी सूची जारी करने वाले हैं. माना जा रहा है कि ये नेता सपा से अलग चुनाव लड़ेंगे.

अखिलेश की इस सूची में 171 वो सीटें हैं जिन पर पार्टी के विधायक हैं जबकि उन 64 सीटों पर भी उम्मीदवार तय कर दिए गए हैं जहां पिछली बार सपा नहीं जीती थी.

अखिलेश की इस सूची में उनके करीबी पवन पांडेय, अरविंद सिंह गोप, राम गोविंद चौधरी, अभिषेक मिश्र जैसे लोगों के नाम शामिल हैं जबकि मुलायम-शिवपाल की लिस्‍ट में शामिल अमनमणि त्रिपाठी और अतीक अहमद के नाम शामिल नहीं हैं.

एक दिन पहले ही मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल यादव के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 325 उम्मीदवारों की घोषणा की थी. उस सूची में 108 नाम अखिलेश की पसंद के नहीं थे.

इससे पहले गुरुवार को अखिलेश यादव ने अपने समर्थकों के साथ एक बैठक की जिसमें चालीस से ज़्यादा विधायकों ने हिस्सा लिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)