प्रेस रिव्यू- कश्मीरी युवाओं को 'सही राह' लाएगा आरएसएस

इमेज कॉपीरइट AFP

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि भारत प्रशासित कश्मीर के मुस्लिम युवाओं को 'सही राह' पर लाने के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ शनिवार को दिल्ली में एक सम्मेलन आयोजित करने जा रहा है.

आरएसएस की शाखा मुस्लिम राष्ट्रीय मंच 'इन कश्मीरी मुस्लिम युवाओं को राष्ट्रीय धारा से जोड़ने के लिए' कार्यक्रम कर रहा है.

एमआरएम ने दावा किया है कि दिल्ली में 2000 से ज़्यादा छात्रों के आने की संभावना है.

इस कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और जम्मू कश्मीर के उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह को बुलाया गया है.

लेकिन कश्मीर घाटी में भाजपा की सहयोगी पार्टी पीडीपी इससे बेख़बर है और अलगाववादी इसे समाज को तोड़ने की क़वायद बता रहे हैं.

नॉर्वे में सभी एफ़ एम रेडियो स्टेशन बंद हो जाएंगे.

हिंदुस्तान टाइम्स ने लिखा है कि नॉर्वे अपने सभी एफ़एम रेडियो चैनल बंद करने वाला दुनिया का पहला देश बनने जा रहा है.

11 जनवरी से नॉर्वे के बोडे शहर में एफ़एम रेडियो चैनल को बंद करने की शुरुआत होगी.

फ़्रीक्वेंसी मॉड्यूलेशन (एफ़एम) की शुरुआत 1950 के दशक में हुई थी और अब इसकी जगह डिजिटल तकनीक लेने वाली है.

इमेज कॉपीरइट Prashant Ravi

टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने लिखा है कि भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा गरीबों के हक़ में उठाए गए क़दम नोटबंदी और पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में आतंकियों के लॉन्च पैड पर सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के नोटबंदी के ऐतिहासिक क़दम ने ग़रीबों के समर्थन के मुद्दे को विपक्ष से छीन लिया है. इससे काले धन में कमी आएगी और विकास के लिए ज़्यादा फंड उपलब्ध होगा.

इमेज कॉपीरइट AFP

हिंदुस्तान टाइम्स ने लिखा है कि केंद्र सरकार ने 2016-17 में भारतीय अर्थव्यवस्था के 7.1 फ़ीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान लगाया है जो कि पिछले तीन साल में सबसे कम है.

इसके पीछे सिर्फ़ नोटबंदी ही एक कारण नहीं है बल्किन उत्पादन, कंस्ट्रक्शन और खनन क्षेत्र में मंदी को भी इसकी वजह माना जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे