हम देश की आत्मा बचाएंगे:राहुल गांधी

इमेज कॉपीरइट Twitter

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भगवान शिव की तस्वीर में कांग्रेस का चुनाव चिह्न दिखता है. उन्होंने कहा कि उन्हें गुरु नानक की तस्वीर में भी कांग्रेस पार्टी का चिह्न दिखा.

राहुल ने पार्टी को संबोधित करते हुए कहा, ''मुझे बताया गया था कि कांग्रेस पार्टी सौ साल पुरानी है. एक दिन मैं फोटो देख रहा था और शिव जी की तस्वीर में मुझे कांग्रेस का चिह्न दिखाई दिया. मैंने सोचा कि यह अजीब से बात है कि शिव जी की तस्वीर में कांग्रेस का चिह्न. मैंने सोचा कि भई अब दूसरी तस्वीरें देखता हूं. मैंने गुरुनानक जी की तस्वीर देखी उसमें भी कांग्रेस का चिह्न दिखा.''

राहुल ने आगे कहा, ''बुद्ध की तस्वीर देखी तो उसमें भी कांग्रेस का चिह्न था. महाबीर जी की तस्वीर देखी तो उसमें भी कांग्रेस का चिह्न था. मुझे हज़रत अली की तस्वीर में भी कांग्रेस का चिह्न दिखा. यहूदियों में भी ऐसा ही दिखा. आख़िर ये हो क्या रहा है? मैं कर्ण सिंह के पास गया और उनसे पूछा कि हो क्या रहा है और उन्होंने एक सेकंड में कहा कि डरो मत. अभी का जो समय है उससे डरो मत.''

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार की नोटबंदी पर तीखा हमला बोला है. राहुल ने मोदी सरकार पर ये वार कांग्रेस के जन वेदना सम्मेलन में अपने संबोधन में किए.

कांग्रेस का यह सम्मेलन मोदी सरकार की नोटबंदी के ख़िलाफ दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है.

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि ऐसा इतिहास में पहली बार हो रहा है जब भारत के प्रधानमंत्री का विदेशों में मज़ाक उड़ा रहा है.

उनका कहना था, 'यही नहीं इस सरकार ने सभी लोकतांत्रिक संस्थाओं को कमजोर कर दिया है. रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर के पद को इस सरकार ने हास्यापद बना दिया है. हमने 70 वर्षों से इन संस्थाओं का आदर किया. लेकिन मोदी सरकार देश की आत्मा को खत्म करने में लगी है. हम देश की आत्मा को बचाएंगे.हम देश को बताना चाहते हैं कि हम हिन्दुस्तान की आत्मा को बचाकर रखेंगे. हमने देश के लिए बलिदान दिया है.हमारे देश के लोग खून और आंसू को जानते हैं, जो कांग्रेसी नेताओं ने देश को दिया.'

इमेज कॉपीरइट AFP

राहुल का कहना था कि नोटबंदी एक खराब फैसला था. लोग पूछ रहे हैं कि अच्छे दिन कब आएंगे. वर्ष 2019 में कांग्रेस की सरकार से ही अब अच्छे दिन आएंगे. यह निर्णय सिर्फ एक इंसान ने लिया और वो इंसान है नरेंद्र मोदी.

राहुल ने कहा कि ढाई वर्ष से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया जैसी कई योजनाएं लाएं.मोदी इसके बाद नोटबंदी लेकर आए. हिन्दुस्तान तो छोड़ो दुनिया के सभी इकोनॉमिस्ट ने इसे अर्थव्यवस्था के लिए खराब बताया. उन्होंने नोटबंदी के जरिए अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी है.

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images

राहुल ने मोदी सरकार पर मीडिया को दबाव और प्रभाव में रखने का भी आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि मीडिया वाले मुझसे शिकायत करते हैं कि मोदी सरकार का विरोध करते हुए डर लगता है कहीं वहां से फोन न आ जाए,नौकरी न चली जाए. हम उनका दर्द समझते हैं.आज नोटबंदी के कारण ऑटोमोबाइल सेक्टर में 60 प्रतिशत गाड़ियां कम बिकीं. मोदी से पूछना चाहिए कि 60 प्रतिशत सेल कम क्यों हुई. यही नहीं प्रधानमंत्री बताएं कि मनरेगा में इतनी डिमांड क्यों बढ़ गई है.

राहुल के इस संबोधन पर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि,'राहुल जनता में भ्रम न फैलाएं. अगर राहुल वाकर्इ् जनता के लिए चिंतित होते तो छुटियां मनाने बाहर नहीं जाते.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)