इंटरनेट गेम्स का 'बीमार' अस्पताल में भर्ती

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दिल्ली के एक अस्पताल में एक ऐसे किशोर को भर्ती कराया गया है जिसे इंटरनेट पर गेम खेलने की लत है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक पहले वो रोज़ाना आठ घंटे कंप्यूटर पर गेम खेलता था और धीरे-धीरे वो रोज़ाना 12 घंटे कंप्यूटर पर गेम खेलने लगा. गेम खेलने की लत ने उसकी सोच, सोने के समय और परिवार से बातचीत को प्रभावित करना शुरू कर दिया. 9वीं कक्षा का ये छात्र फिलहाल दिल्ली के अस्पताल में भर्ती है जहां उसका इलाज चल रहा है.

इंडियन एक्सप्रेस की ही एक और रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली के पत्रकारिता संस्थान आईआईएमसी के छात्रों ने संस्थान पर निगरानी रखे जाने के आरोप लगाए हैं.

संस्थान में बीते सप्ताह एक छात्र को एक पोर्टल के लिए लिखे गए लेख के बाद निलंबित कर दिया गया था. छात्रों का कहना है कि अब उनकी सोशल मीडिया गतिविधियों पर नज़र रखी जा रही है.

इमेज कॉपीरइट AP

अंग्रेज़ी अख़बार 'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' के मुताबिक़ बिहार में अपने चार साथी जवानों की जान लेने वाले सीआईएसएफ़ के जवान के परिवार का कहना है कि वो मानसिक रोग से पीड़ित है. रिपोर्ट के मुताबिक़ परिजनों ने ये जानकारी सीआईएसफ़ को भी दी थी. जबकि सीआईएसएफ़ को उसके दिल्ली में चल रहे इलाज़ के बारे में जानकारी नहीं थी.

अख़बार की एक और रिपोर्ट के मुताबिक़ दिल्ली के एम्स अस्पताल के कैंसर सेंटर में मरीज़ों की बढ़ती संख्या के कारण कीमियोथेरेपी के लिए इंतज़ार लंबा होता जा रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक इस केंद्र में सालाना 36 हज़ार मरीज़ आते हैं जबकि कीमियोथेरेपी के लिए सिर्फ़ 36 बिस्तर ही उपलब्ध हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)