महात्मा गांधी पर हरियाणा के मंत्री अनिल विज का विवादित बयान

इमेज कॉपीरइट ANIL VIJ FB

हरियाणा सरकार में मंत्री अनिल विज ने कहा है कि नरेंद्र मोदी खादी के लिए महात्मा गांधी से बड़े ब्रांड हैं.

अनिल विज का ये बयान उस वक्त आया है जब खादी ग्रामोद्योग के कैलेंडर में से गांधीजी की तस्वीर नदारद है और उनकी जगह पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर कैलेंडर में चस्पा है. तस्वीर में पीएम मोदी चरखा चलाते हुए दिखाई दे रहे हैं.

अनिल विज ने अंबाला में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "गांधीजी ने कोई खादी का ट्रेडमार्क तो करा नहीं रखा है. पहले भी कई बार उनकी तस्वीर नहीं लगी है."

हालाँकि उनके बयान की आलोचना होने के बाद अनिल विज ने ट्वीट कर कहा कि वो अपना बयान वापस लेते हैं.

नज़रिया: गांधी का खादी, मोदी का खादी नहीं है

किंगफिशर नहीं, ट्रेंड कर रहा खादी कैलेंडर

इमेज कॉपीरइट PIB

उन्होंने कहा कि मोदी की तस्वीर लगने के बाद से खादी की बिक्री में 14 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. ऐसे में यह फैसला अच्छा है.

अनिल विज ने कहा, "गांधीजी का तो नाम ही ऐसा है जिस चीज पर लग जाती है वो चीज़ डूब जाती है. रुपए के ऊपर लगी और रुपया हमारा डूबता ही चला गया."

इमेज कॉपीरइट Twitter

यह पूछे जाने पर कि क्या नोटों से भी गांधी की तस्वीर हट जाएगी, विज ने कहा, "मैं ऐसा नहीं कह रहा हूँ, कि हटाए जाएंगे लेकिन जो इसका विरोध कर रहे हैं कि मोदीजी की तस्वीर क्यों लगाई गई, मैं उन्हें जवाब दे रहा हूँ." राष्ट्रीय जनता दल के लालू प्रसाद यादव ने उनके इस बयान की तीखी आलोचना की है. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर भी अनिल विज के इस बयान की ख़ासी चर्चा हो रही है.

इस बीच, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि गांधी जी भारतीय जनता पार्टी के लिए आदरणीय हैं और ये बयान अनिल विज ने निजी हैसियत से दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे