हिटलर, मुसोलिनी भी ताकतवर ब्रांड थे: राहुल गांधी

राहुल गांधी इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

बीजेपी शासित हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महात्मा गांधी से बेहतर ब्रांड बताया था. अनिल विज के इस बयान पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि हिटलर और मुसोलिनी भी बहुत शक्तिशाली ब्रांड थे.

राहुल गांधी ने अनिल विज के विवादित बयान पर व्यंग्यात्मक लहज़े में जवाब दिया है.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption राहुल गांधी का ट्वीट

खादी ग्रामोद्योग के कैलेंडर पर महात्मा गांधी की जगह पीएम मोदी की तस्वीर लगने के बाद से चर्चा और विवाद गर्म है. हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने अपना बयान देकर इस विवाद को और हवा दे दी है.

नज़रिया: गांधी का खादी, मोदी का खादी नहीं है

किंगफिशर नहीं, ट्रेंड कर रहा खादी कैलेंडर

'नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाने में ग़लत क्या है'

मोदी की तस्वीर पर क्या कहते हैं गांधी के प्रपौत्र?

अनिल विज ने कहा था, ''जब से खादी के साथ गांधी का नाम जुड़ा खादी डूब गई. नोट पर गांधी की तस्वीर चिपकी तो नोट भी गर्त में गया. ऐसे में अच्छा किया गया कि गांधी की तस्वीर हटाकर मोदी की लगा दी गई है. मोदी गांधी से बड़ा ब्रांड हैं. मोदी की तस्वीर लगने से खादी की कीमत 14 प्रतिशत बढ़ी है.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption केंद्रीय मंत्री श्रीपद नायक के साथ अनिल विज

अनिल विज से पूछा गया कि आपकी सरकार ने नए नोट छापे तो उन नोटों पर भी गांधी की तस्वीर लगाई, आख़िर क्यों नहीं हटाया गया? इस पर अनिल विज ने कहा कि धीरे-धीरे हट जाएंगे. हालांकि बीजेपी ने अनिल विज के बयान को निजी बताते हुए निंदा की है.

पार्टी प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा, ''बीजेपी अनिल विज के बयान की कड़ी निंदा करती है. यह उनका निजी बयान है और उनसे पार्टी सहमत नहीं है. महात्मा गांधी हमारे आदर्श हैं.''

इसके बाद अनिल विज ने भी ट्विटर पर सफाई दी. उन्होंन कहा, ''महात्मा गांधी पर मेरा निजी बयान था. किसी की भावना आहत न हो इसलिए मैं इस बयान को वापस लेता हूं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption कांग्रेस उपाध्यक्ष राहल गांधी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी अपने मंत्री की अलोचना की है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता का सम्मान होना चाहिए. खट्टर ने कहा कि विज एक सीनियर मंत्री हैं और उन्हें ऐसे बयानों से बचना चाहिए.

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा, ''रुपये का अवमूल्यन महात्मा गांधी के कारण नहीं हुआ. पीएम मोदी की चरखे के साथ तस्वीर खादी को प्रमोट करने के लिए है. यह प्रतीकात्मक है. इसका मतलब यह नहीं हुआ कि कोई महात्मा गांधी की जगह ले सकता है.''

अनिल विज के इस बयान पर कांग्रेस के सीनियर नेता कपिल सिब्बल ने भी मोदी सरकार को घेरा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ''नोटों का अवमूल्यन गांधी के कारण हुआ...मोदी गांधी से बढ़िया ब्रांड हैं- अनिल विज. मोदी का भारत: असहिष्णु, दूसरों का अपमान और बेअदब. अच्छे दिन!''

इमेज कॉपीरइट Twitter

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बीजेपी और विज की भर्त्सना करते हुए कहा, ''मोदी सरकार वही कर रही है जो अंग्रज़ों ने किया था. लोगों को कुचलो, संस्थाओं को ख़त्म करो और असहमत होने वालों को खामोश कर दो. लेकिन मोदी जी, अनिल विज जी और बीजेपी को हमेशा याद रखना चाहिए कि महात्मा गांधी इस देश की आत्मा में हमेशा ज़िंदा रहेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे