अब गांधी की तस्वीरों वाली चप्पल पर विवाद

महात्मा गांधी इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत के कड़े विरोध के बाद महात्मा गांधी की तस्वीर वाली चप्पलों को अमेज़न ने अपनी साइट से हटा लिया है.

अभी कुछ ही दिन पहले डोरमैट पर भारतीय तिरंगे को लेकर भी अमेज़न से भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नाराज़गी जताई थी जिसके बाद उसे हटाया गया था.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार वॉशिंगटन में भारतीय दूतावास ने अमेज़न यूएस से बात की है और उनसे भारतीय लोगों की भावनाओं का आदर करने को कहा है.

टीवी चैनल एनडीटीवी के अनुसार विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, ''भारतीय तिरंगे वाले डोरमैट के मामले में फॉलोअप के दौरान हमारे अमरीकी राजदूत को ये निर्देश दिए गए थे कि अमेज़न जब किसी तीसरे पक्ष को अपनी साइट पर कुछ बेचने दे तो वो भारतीय लोगों की संवेदनाओं और भावनाओं का सम्मान करें.''

तिरंगे वाला डोरमैट, अमेज़न पर भड़कीं सुषमा

सुषमा का मज़ाक और गुस्सा सब ट्विटर पर

अमेज़न ने तिरंगे वाले डोरमैट हटाए

अमेज़न की साइट पर गांधी के तस्वीरों वाली चप्पल आने के बाद नाराज़गी जताने वालों में आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास सबसे आगे रहे. उन्होंने ट्वीट कर के कहा कि अमेज़न अपने व्यवहार में सुधार लाए. भारतीय चिन्हों को लेकर ऐसा रवैए का नुकसान अमेज़न को ही होगा.

इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter
इमेज कॉपीरइट Twitter

इससे पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने डोरमैट्स पर तिरंगे के तस्वीर के मामले में अमेज़न से माफी मांगने को कहा था.

इसके बाद अमेज़न के वाइस प्रेसिडेंट अमित अग्रवाल ने सुषमा को जवाब देते हुए बताया कि ये डोरमैट्स अमेज़न की कनाडा वेबसाइट पर थर्ड पार्टी वेंडर के ज़रिए थे और अमेज़न का उद्देश्य भारतीय लोगों की भावनाओं को आहत करना कतई नहीं था.

पिछले साल जून में भी भारतीय भगवानों वाले डोरमैट्स की अमेज़न पर बिक्री को लेकर विवाद हुआ था.

अमेज़न ने अभी तक गांधी जी की तस्वीरों वाली चप्पल से जुड़े विवाद पर कोई टिप्पणी नहीं की है. हालांकि उन्होंने इस उत्पाद को साइट से ज़रूर हटा लिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे