मोदी ने देश को हिरोशिमा बना दिया: शिव सेना

शिव सेना इमेज कॉपीरइट TWITTER
Image caption शिव सेना ने मोदी को घेरा

बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिव सेना ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है. शिव सेना ने कहा कि जैसे अमरीका ने हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिराया था उसी तरह से नरेंद्र मोदी ने देश पर नोटबंदी का बम गिराया है.

मोदी सरकार ने पिछले साल 8 नवंबर को देश की करेंसी के दो बड़े नोटों (500 और 1000) को रद्द कर दिया था.

शिव सेना केंद्र की मोदी सरकार में सहयोगी है. इसके साथ ही दोनों दलों में वैचारिक समानता भी है. मोदी सरकार के नोटबंदी के फ़ैसले का शिव सेना विरोध कर रही है.

Image caption मोदी सरकार पर हमलावर रहती है शिव सेना

शिव सेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा है कि मोदी एकतरफा फ़ैसले ले रहे हैं. शिव सेना ने नोटबंदी के फ़ैसले की तुलना दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापानी शहर पर परमाणु हमले से की है.

प्रधानमंत्री मोदी पर शिव सेना का निशाना

उद्धव ने भाजपा से उसकी औक़ात पूछी

शिवसेना और भाजपा: कितने पास, कितने दूर?

शिव सेना ने कहा, ''मोदी किसी की सुनना पसंद नहीं करते हैं. वह किसी से सलाह भी नहीं लेते हैं. यहां तक कि वह आरबीआई के चेयरमैन से भी मशविरा नहीं करते. वह कैबिनेट मीटिंग में बहरे और गूंगे तोतों को बुलाते हैं.''

मुंबई नगर निकाय चुनाव के क़रीब आते ही दोनों दलों के बीच कड़वाहट बढ़ गई है. दोनों दलों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर कोई सहमति नहीं बन पाई है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption महाराष्ट्र में है बीजेपी की सरकार

सामना की संपादकीय में शिव सेना ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार पर भी हमला बोला है.

शिवसेना ने कहा कि शरद पवार ने पहले नोटबंदी का स्वागत किया था और बाद में कॉपरेटिव सेक्टर पर असर पड़ा तो वह पीछे हट गए.

सेना ने मोदी सरकार को इस बात के लिए भी कोसा कि कॉपरेटिव बैंकों में पुराने नोटों को जमा करने की अनुमति नहीं दी गई. सेना ने कहा कि सरकार से इस फ़ैसले से किसान सबसे ज़्यादा प्रभावित हुए हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे