प्रेस रिव्यू- ऑनलाइन ट्रोल करने वालों को सुषमा का जवाब

इमेज कॉपीरइट EPA

अंग्रेज़ी अख़बार द हिंदू के अनुसार विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपने ऑनलाइन आलोचकों को तगड़ा जवाब देते हुए कहा कि वो भारतीयों में धर्म और जाति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं करतीं.

अपने ट्विटर हैंडल पर सुषमा स्वराज ने कहा, "भारत मेरा देश है. भारतीय मेरे लोग हैं. जाति, राज्य, भाषा या धर्म मेरे लिए मायने नहीं रखते."

इमेज कॉपीरइट Twitter

'हिंदू जागरण संघ' ने @HinduJagoran हैंडल से ट्ट्वीट कर सुषमा स्वराज पर हिंदुओं की अनदेखी का आरोप लगाया था.

अख़बार के अनुसार अक्सर ऑनलाइन ट्रोलिंग में शामिल रहने वाले इस संगठन ने इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम एक कमेंट पोस्ट किया था जिसमें कहा गया था, "आपकी सुषमा सिर्फ़ मुसलमानों को वीज़ा दिलाने में मदद करती है लेकिन हिंदुओं को भारत का वीज़ा मिलने में परेशानी आ रही है.''

प्रेस रिव्यू: 'शादी का वादा, रेप के हर मामले में वजह नहीं'

प्रेस रिव्यू: प्रदूषण से मरे 81 हज़ार लोग

इमेज कॉपीरइट AFP

दैनिक भास्कर ने लिखा है कि एशिया का सबसे पुराना बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का आईपीओ आज खुल रहा है.

इसीके साथ बीएसई शेयर बाज़ार में लिस्ट होने वाला देश का पहला स्टॉक एक्सचेंज बन जाएगा.

नौ हज़ार से ज़्यादा शेयरधारकों वाले बीएसई ने इस आईपीओ से 1,243 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा है.

इश्यू का प्राइस 805-806 रुपए रखा गया है और ये तीन दिन के लिए यानी 23 से 25 जनवरी तक खुला रहेगा.

इमेज कॉपीरइट NBT

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि महाराष्ट्र एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने स्वच्छ भारत मिशन से जुड़े शैलेन्द्र बजानिया को कथित तौर पर 2.5 लाख रुपए की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया है.

आरोप है कि वो महाराष्ट्र के औरंगाबाद को स्वच्छ भारत की रैंकिंग में ऊपर रखने के लिए रिश्वत मांग रहे थे.

वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक मूल रूप से गुजरात के शैलेंद्र बजानिया केंद्र सरकार के एक तीन सदस्यीय पैनल में शामिल थे. ये टीम 20 जनवरी को औरंगाबाद पहुंची थी.

एसीबी अधिकारियों के मुताबिक़ बजानिया ने औरंगाबाद स्वच्छ भारत की संयोजक डॉ जयश्री कुलकर्णी से कथित तौर पर रिश्वत मांगी, जिन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से की.

इसके बाद एसीबी के मुताबिक उन्होंने बजानिया को एक पांच सितारा होटल में 1.17 लाख की रकम रिश्वत में लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा .

इमेज कॉपीरइट EPA

हिंदुस्तान टाइम्स ने लिखा है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी पर लगाए गए आरोपों को साबित करने में दिल्ली पुलिस का दम फूल गया है.

दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के 13 विधायकों को पिछले दो सालों में रेप, फ़िरौती, फर्ज़ीवाड़े, धोखाधड़ी से लेकर दंगे के आरोप में गिरफ़्तार किया है.

ये सभी आरोप ऐसे हैं जिनमें ज़मानत मिलना आसान नहीं लेकिन आम आदमी पार्टी के सभी 13 विधायकों को ज़मानत मिल चुकी है. और दो पर तो कोई आरोप ही सिद्ध नहीं हुआ है.

रेप के मामले में पकड़े गए संदीप कुमार और कॉलेज की फ़र्ज़ी डिग्री के मामले में पकड़े गए जितेन्द्र तोमर को छोड़कर बाकी विधायकों के मामले में पुलिस को अदालतों में आरोप सिद्ध करने में काफ़ी दिक्कत आ रही है.

इमेज कॉपीरइट EPA

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि भारत में पहली बार भारतीय साइन लैंगवेज डिक्शनरी मार्च महीने में लॉन्च होने जा रही है.

केंद्र सरकार ने दर्जन भर सदस्यों की एक टीम बनाई है जो इस प्रोजेक्ट पर काम कर रही है.

अब तक रोज़ाना इस्तेमाल होने वाले, न्यायपालिका, मेडिकल, तकनीकी और शैक्षणिक क्षेत्रों में इस्तेमाल होने वाले हिंदी और अंग्रेज़ी भाषा के 6,000 से ज़्यादा शब्द साइन लैंगवेज की इस डिक्शनरी के लिए जुटाए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे