सपा-कांग्रेस गठजोड़ में अमेठी-रायबरेली का पेंच

इमेज कॉपीरइट Getty Images

भारत-पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू अख़बारों की बात की जाए तो इस हफ़्ते भ्रष्टाचार से जुड़ा पनामा लीक्स मामला, अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के विवादास्पद फ़ैसले, भारत में होने वाले विधानसभा चुनाव वग़ैरह सुर्ख़ियों में रहे.

पहले बात पाकिस्तान की. अमरीका के नए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कुर्सी पर बैठते ही सात मुस्लिम देशों के नागरिकों को अमरीकी वीज़ा देने पर फ़िलहाल पाबंदी लगा दी है. इसको लेकर पाकिस्तानी अख़बारों में काफ़ी चर्चा हुई.

रोज़नामा जंग ने इसे पहली ख़बर बनाते हुए सुर्ख़ी लगाई, 'अमरीका सात मुस्लिम मुल्कों के लिए बंद.'

'नवाज़ शरीफ़ बोले, सिर्फ़ मुसलमानों का पीएम नहीं'

आज़ादी के नारों पर गोलियां बद करो

'लोकतंत्र का कोई भी विकल्प बहुत ख़तरनाक'

भ्रष्टाचार से जुड़े पनामा लीक्स के बारे में रोज़नामा एकस्प्रेस ने लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई कर रहे पांच जजों की खंडपीठ के प्रमुख जस्टिस आसिफ़ सईद खोसा ने कहा कि इस मामले में फ़ैसला लोगों की इच्छा के अनुसार नहीं बल्क़ि क़ानून के मुताबिक़ होगा.

पाकिस्तानी सेना के पूर्व प्रमुख जनरल राहील शरीफ़ को सरकार की तरफ़ से ज़मीन दिए जाने पर उठे विवाद पर रोज़नामा नवा-ए-वक़्त ने सेना के प्रवक्ता के हवाले से लिखा है कि उनको ज़मीन सरकारी और सैन्य क़ानून के तहत दी गई है. अख़बार लिखता है कि इस मामले में की जा रही बहस सेना को बदनाम करने की साज़िश है.

रोज़नामा दुनिया ने ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की ताज़ा रिपोर्ट को पहले पन्ने पर जगह दी है. अख़बार ने सुर्ख़ी लगाई है, 'पाकिस्तान में भ्रष्टाचार नौ दर्जे कम.'

अख़बार लिखता है कि अंतरराष्ट्रीय संस्था ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने भी मान लिया है कि पाकिस्तान में भ्रष्टाचार में कमी आई है. अख़बार ने उस रिपोर्ट का हवाला देते हुए लिखा है कि दक्षिण एशिया में चीन और पाकिस्तान भ्रष्टाचार को कम करने की दिशा में पहले और दूसरे नंबर पर हैं.

इसी रिपोर्ट का हवाला देते हुए नवा-ए-वक़्त ने लिखा है कि भारत भ्रष्टाचार के मामले में केवल पांच दर्जे ही कमी कर सका.

पनामा लीक: दो लाख खातों के दस्तावेज़ जारी

ट्रंप को झटका, यूएस में ही रहेंगे मुस्लिम शरणार्थी

सीरियाई शरणार्थियों के लिए ट्रंप ने बंद किए अमरीकी दरवाज़े

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत से छपने वाले उर्दू अख़बारों की बात की जाए तो यहां पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव और गणतंत्र दिवस पर संयुक्त अरब अमीरात के राजकुमार के मुख्य अतिथि होने की ख़बर छाई रही.

रोज़नामा जदीद ख़बर ने लिखा है कि उत्तर प्रदेश में अमेठी और रायबरेली की सभी सीटों पर कांग्रेस का दावा.

अख़बार के मुताबिक़ इन दोनों लोकसभा सीटों के अंदर आने वाली 10 विधानसभा सीटों में कांग्रेस को छह और समाजवादी पार्टी को चार सीटें दी जा सकती हैं. लेकिन अब कांग्रेस के कई नेता मांग कर रहे हैं कि तमाम 10 सीटों पर कांग्रेस अपने उम्मीदवार खड़ा करेगी.

कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी रायबरेली से और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से सांसद हैं.

ये दोनों सीटें एक ज़माने से कांग्रेस की गढ़ रही हैं. यहां से इंदिरा गांधी, फ़िरोज़ गांधी, संजय गांधी और राजीव गांधी सांसद रह चुके हैं. हिंदुस्तान एक्सप्रेस ने सुर्ख़ी लगाई है, 'भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता के मुद्दे पर राहुल से मोदी को कठघरे में खड़ा किया.'

राहुल और अखिलेश पहली बार दिखेंगे साथ, लखनऊ में रोड शो

यूपी में क्या 'चवन्नी छाप' हो जाएगी कांग्रेस?

यूपी चुनाव का वो फैक्टर जो बदल सकता है सारे समीकरण

इमेज कॉपीरइट Reuters

अख़बार लिखता है कि पंजाब में एक चुनावी रैली के दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि भ्रष्टाचार को ख़त्म करने का दावा करने वाले मोदी अकाली दल के नेताओं के साथ स्टेज पर कैसे बैठ सकते हैं.

राहुल गांधी ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और उनके बेटे और राज्य के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल सर से लेकर पांव तक भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं. पंजाब में अकाली दल और बीजेपी की गठबंधन सरकार है और चुनावी प्रचार के दौरान मोदी और बादल एक साथ स्टेज पर थे.

राष्ट्रीय सहारा ने गो-हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के एक फ़ैसले को सुर्ख़ी लगाई है. अख़बार लिखता है कि विनीत साहा नाम के एक व्यक्ति ने सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी दी थी कि पूरे भारत में गो-हत्या पर पाबंदी लगा दी जाए. सुप्रीम कोर्ट ने अर्ज़ी की सुनवाई करते हुए विनीत साहा की अपील को ख़ारिज कर दिया.

इमेज कॉपीरइट AFP

रोज़नामा जदीद ख़बर ने फ़िल्म अभिनेता और बीजेपी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के एक बयान को सुर्ख़ी बनाई है जिसमें उन्होंने कहा कि मंदिर और मस्जिद की राजनीति करने वाले देश के दुश्मन हैं.

अख़बार के अनुसार कोलकाता में आयोजित साहित्य सम्मेलन में बातचीत के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि इंसानियत की पैरवी करना उनकी नैतिक और सामाजिक ज़िम्मेदारी है.

उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन उनका इशारा उत्तरप्रदेश में चुनावी रैली के दौरान बीजेपी के एक नेता के बयान की तरफ़ था. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि बीजेपी जीत गई तो अयोध्या में राममंदिर का निर्माण किया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)