क्या था इंदिरा की लंबी उम्र का राज़?

इमेज कॉपीरइट Shimoga Nandan

कर्नाटक के वन विभाग के अधिकारी एक उम्रदराज हथिनी की मौत को लेकर ग़मगीन हैं.

इंदिरा नाम की इस हथिनी का जीवन हाथियों की सामान्य उम्र से ज्यादा रहा. अधिकारियों के मुताबिक मौत के वक़्त की उसकी उम्र 80 बरस से ज्यादा थी.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बात को लेकर शोध का सुझाव दिया है कि क्या सकरेबैलू कैंप में दिए जाने वाला भोजन हथिनी की लंबी उम्र की वजह बना.

जो लेते हैं जानवरों की मनमोहक तस्वीरें

'स्नेक फ़ार्म' की धूम है कीनिया में

इंदिरा को करीब पांच दशक पहले हाथियों के लिए बने सकरेबैलू कैंप लाया गया था.

इमेज कॉपीरइट Shimoga Nandan

इंदिरा को साल 1968 में पश्चिमी घाट के कक्कनाकोटे के जंगल से खेड्डा ऑपरेशन के लिए पकड़ा गया था. सामान्य तौर पर खेड्डा ऑपरेशन के लिए उन हाथियों को पकड़ा जाता है जिनकी उम्र 25 से 30 साल के बीच हो.

हाथियों की जन्मतिथि को लेकर कोई रिकॉर्ड नहीं रखा जाता है लेकिन वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इंदिरा राज्य के सबसे उम्रदराज हाथियों में से एक थी.

शिमोगा स्थित सकरेबैलू कैंप के डा. विनय एस ने बताया, " उसकी उम्र 85 से 90 वर्ष के बीच होनी चाहिए. आमतौर पर 60 से 65 साल के बीच हाथी अपने चबाने वाले दांत गंवा देते हैं. बीते करीब दो दशकों से उसे हल्का भोजन दिया जाता था. करीब 15 साल पहले उसकी एक आंख की रोशनी चली गई और करीब एक महीने पहले उसकी दूसरी आंख में मोतियाबिंद हो गया था."

इमेज कॉपीरइट Shimoga Nandan

सामान्य तौर पर हाथियों की उम्र 70 साल होती है.

डा. विनय कहते हैं, "हाथियों की अधिकतम उम्र 77 साल है."

इंदिरा बेहद अनुशासित थी. उसे जंगली हाथियों को पकड़ने और उन्हें काबू करने में इस्तेमाल किया जाता था.

आदमखोर बाघिन के शिकार की हैरतअंगेंज़ दास्तान

डा. विनय के मुताबिक, " वो बहुत अच्छी, बेहद अनुशासित और काफी विनम्र थी."

डा. विनय ने बताया, " वो धान, चावल, गुड़ और 150 ग्राम नमक खाती थी. वो काफी मात्रा में हरा चारा खाती थी और दो बचे दातों के सहारे चबाती थी. वो हर दिन 16 से 17 हैंड पानी पीती थी. हाथी अपनी सूंड़ में 10 लीटर पानी ले सकते हैं. इसे हैंड कहा जाता है."

इमेज कॉपीरइट ShimogaNandan

इंदिरा की लंबी उम्र का राज़ क्या है?

इस सवाल के जवाब में वनविभाग के एडिशनल प्रिंसिपल चीफ कंज़रवेटर डा. यूवी सिंह कहते हैं, " ये निश्चित तौर पर अध्ययन का मामला है. लंबी उम्र निश्चित तौर पर हाथी को दिए जाने वाले भोजन पर निर्भर करती है. खासतौर पर 60 साल की उम्र के बाद. हर वो हाथी जिसे सभी तत्वों से भरपूर नियंत्रित और संतुलित आहार दिया जाता है, वो लंबी ज़िंदगी जीता है. ये अध्ययन लायक विषय है."

बाढ़ से बचने के लिए तैर रहे हैं हाथी

डा. विनय कहते हैं, "बीते 20 दिनों से इंदिरा ने खाना बंद कर दिया था और वो कमजोर हो गई थी."

पोस्टमार्टम के बाद इंदिरा को दफन कर दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे