पनीरसेल्वम ने पीठ में छुरा भोंका: शशिकला

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तमिलनाडु में मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम के बयानों का जवाब देने के लिए आधी रात को पार्टी प्रमुख शशिकला नटराजन सामने आईं और उन्होंने मीडिया से कहा कि पार्टी में कोई दरार नहीं है.

शशिकला ने कहा है, "पनीरसेल्वम मुख्यमंत्री पद के लिए उपयुक्त नहीं हैं. उन्होंने पार्टी की पीठ में छुरा भोंका है. सभी विधायक मेरे साथ हैं और मुझे समर्थन दे रहे हैं."

शशिकला ने आरोप लगाया है कि पनीरसेल्वम को डीएमके नेता करुणानिधि के बेटे स्टालिन के बहकावे में आ गए हैं. शशिकला ने मुख्यमंत्री पद छोड़ने के लिए पनीरसेल्वम पर दबाव बनाने की बात से भी इनकार किया.

इससे पहले समाचार एजेंसी पीटीआई ने ख़बर दी कि शशिकला ने पनीरसेल्वम को पार्टी के कोषाध्यक्ष पद से हटा दिया है.

पनीरसेल्वम को एआईएडीएमके के कोषाध्यक्ष पद से हटाया गया

तमिलनाडु की राजनीति में नए दौर की शुरुआत है?

स्टालिन बने करुणानिधि के सियासी वारिस

इमेज कॉपीरइट PTI

मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम आज देर शाम जयललिता की समाधि पर गए और वहां आधे घंटे बैठे रहे. वहां से उठने के बाद उन्होंने बयानों की झड़ी लगा दी.

पनीरसेल्वम का कहना है कि उन्हें मुख्यमंत्री पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया.

पार्टी को एकजुट रखने की मंशा जताते हुए पनीरसेल्वम ने कहा, "अम्मा की आत्मा ने मुझसे कहा कि कुछ सच्ची बातें कही जानी चाहिए."

इन बयानों के साथ ही राज्य में राजनीतिक घटनाक्रम तेज हो गया है. शशिकला नटराजन को विधायक दल का नेता चुना गया है और उनकी ताजपोशी के लिए गवर्नर का इंतज़ार है जो फिलहाल चेन्नई से बाहर हैं.

हालांकि मंगलवार देर रात हुई घटना के बाद पार्टी में विभाजन की आशंका गहराने लगी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे