तमिलनाडु का घटनाक्रम- नौ बिदुओं में

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तमिलनाडु के कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने बुधवार सुबह प्रेस कांफ्रेंस कर के कहा है कि वो सदन में अपना बहुमत सिद्ध कर देंगे.

पनीरसेल्वम ने कहा है कि जयललिता की मौत की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में कमिटी का गठन किया जाएगा.

उनका कहना था कि जब कभी उन्हें सदन में बहुमत सिद्ध करने के लिए कहा जाएगा, वो बहुमत सिद्ध कर देंगे.

पनीरसेल्वम ने इन खबरों का खंडन किया कि उन्हें बीजेपी से समर्थन मिल रहा है.

तमिलनाडु में मंगलवार की रात से घटनाक्रम तेज़ी से बदला है.

1. शशिकला को रविवार को विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद उनके मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ़ हो गया था मगर राज्यपाल सी विद्यासागर राव के चेन्नई में नहीं होने के कारण मंगलवार को ख़बर आई कि इस दिन शपथ ग्रहण नहीं हो सकता.

2. राव मुंबई में हैं. वे महाराष्ट्र के गवर्नर हैं. उन्हें पिछले साल सितंबर में के रोज़ैया का कार्यकाल पूरा होने के बाद तमिलनाडु के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया था.

3. मंगलवार रात को पार्टी में ओ पनीरसेल्वम ने बग़ावत कर दी और कहा कि उनसे जबरन इस्तीफ़ा लिया गया. उन्होंने देर शाम मरीना बीच पर जयललिता की समाधि पर लगभग पौने घंटे तक ध्यान लगाने के बाद एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा कि अगर लोग चाहते हैं तो वो अपना इस्तीफ़ा वापस ले सकते हैं.

मुझे मुख्यमंत्री पद छोड़ने के लिए मज़बूर किया गया- पनीरसेल्वम

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption जयललिता की समाधि पर पनीरसेल्वम

4. पनीरसेल्वम के बयान के बाद देर रात को शशिकला ने अपने घर पर विधायकों को बुलाया और कहा कि पनीरसेल्वम को बर्ख़ास्त किया जा रहा है.

5. शशिकला ने आरोप लगाया है कि पनीरसेल्वम डीएमके नेता करुणानिधि के बेटे स्टालिन के बहकावे में आ गए हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री पद छोड़ने के लिए पनीरसेल्वम पर दबाव बनाने की बात से भी इनकार किया.

पनीरसेल्वम ने पीठ में छुरा भोंका: शशिकला

6. मंगलवार रात को पनीरसेल्वम और शशिकला के बयानों से स्पष्ट हो गया कि एआईएडीमके में फूट हो सकती है. पार्टी में 134 विधायक हैं. अभी ये स्पष्ट नहीं है कि शशिकला के साथ कितने विधायक हैं और पनीरसेल्वम के साथ कितने.

7. पनीरसेल्वम अभी कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं. राज्यपाल ने उनका इस्तीफ़ा स्वीकार कर लिया है मगर अगले मुख्यमंत्री के शपथ लेने से पहले तक वही मुख्यमंत्री हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

8. कहा जा रहा है कि राज्यपाल शशिकला को शपथ दिलाने से पहले क़ानूनी पक्षों पर विचार कर रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वो अगले सप्ताह आय से अधिक संपत्ति के मामले में फ़ैसला सुनाएगी जिसमें जयललिता के बाद शशिकला भी सह-अभियुक्त हैं.

9. पनीरसेल्वम की बग़ावत से पहले मंगलवार दिन में पार्टी के एक और बड़े नेता और पूर्व स्पीकर पी एच पांडियन ने एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में दावा किया था कि जयललिता की मौत स्वाभाविक परिस्थितियों में नहीं हुई और उन्हें उनके निवास पर किसी ने धक्का दिया था जिससे वो गिर गई थीं.

'जयललिता को किसी ने धक्का दिया था'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)