एआईएडीएमके विधायकों को बस में बिठाकर होटल ले जाया गया

इमेज कॉपीरइट AFP

तमिलनाडु में एआईएडीएमके नेताओं ने पुष्टि की है कि पार्टी हेडक्वार्टर में हुई बैठक में पार्टी के 134 में से 130 विधायक शामिल हुए हैं.

इससे साबित होता है कि वीके शशिकला के पास पार्टी के ज़्यादा विधायकों का समर्थन प्राप्त है.

तमिलनाडु का घटनाक्रम- नौ बिदुओं में

पनीरसेल्वम ने पीठ में छुरा भोंका: शशिकला

शशिकला ने ओ पनीरसेल्वम पर डीएमके के साथ हाथ मिलाने का आरोप लगाया है जिसका विधायकों ने साथ दिया है.

उन्होंने कहा कि विश्वासघाती लोग कभी भी पार्टी को बर्बाद नहीं कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने पार्टी के सदस्यों को एकजुट रहने को कहा क्योंकि पार्टी और अम्मा के दुश्मन एआईएडीएमके को ख़त्म करने में लगे हुए हैं.

पार्टी की बैठक के बाद विधायकों को बस में बिठाकर एक होटल ले जाया गया. पार्टी के नेताओं का कहना है कि उन्हें राष्ट्रपति के सामने परेड करवाने के लिए दिल्ली ले जाया जाएगा.

शशिकला और सीएम पद में ये दूरी क्यों

क्या-क्या हो सकता है तमिलनाडु में?

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने शशिकला को मुख्यमंत्री पद की शपथ नहीं दिलवाने के कारण सार्वजनिक रूप से तमिलनाडु के राज्यपाल विद्यासागर राव का इस्तीफा मांगा है.

उनका कहना है कि जब विधायक दल ने अपना नेता चुन लिया है तो फिर इसमें देर नहीं होनी चाहिए.

उन्होंने कहा है कि जब आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला उनके ख़िलाफ़ जाएगा तब उन्हें जरूर इस्तीफा देना होगा लेकिन फिलहाल राज्यपाल को फ़ैसले का इंतज़ार किए बिना उन्हें शपथ ग्रहण करवाना चाहिए.

इस पर कांग्रेस की सोच भी सुब्रमण्यम स्वामी की तरह ही है.

वरिष्ठ बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री वंकैया नायडू ने हालांकि कांग्रेस के उन आरोपों को ख़ारिज किया है जिसमें कहा गया है कि बीजेपी एआईएडीएमके को तोड़ने की साजिश में लगी हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे