शशिकला ने पेश किया 'सरकार' बनाने का दावा

इमेज कॉपीरइट AFP

तमिलनाडु में सत्तारूढ़ दल एआईएडीएमके में उत्तराधिकार को ले कर चल रही खींचतान के बीच पार्टी की महासचिव वीके शशिकला ने गुरुवार को राज्यपाल सी विद्यासागर राव से मुलाक़ात की है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार उन्होंने राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया है.

बताया जा रहा है कि शशिकला ने राज्यपाल को एक बंद लिफ़ाफा सौंपा है जिसमें उनका समर्थन करने वाले पार्टी के नेताओं की सूची है.

राज्यपाल से मुलाक़ात करने से पहले शशिकला मरीना बीच पर राज्य की पूर्व मुख्यंमत्री जयललिता की समाधि पर गई थीं.

पनीरसेल्वम, शशिकला में अम्मा का वारिस कौन?

शशिकला और सीएम पद में ये दूरी क्यों

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे कुछ घंटों पहले ओ पनीरसेल्वम ने राज्यपाल से मुलाक़ात की थी. करीब 10 मिनट तक हुई इस मुलाक़ात के बाद उन्होंने कहा कि बातचीत सौहार्दयपूर्ण माहौल में हुई.

बताया जा रहा है कि उन्होंने राज्यपाल से कहा है कि उन पर दवाब डाल कर इस्तीफ़ा लिया गया था और अब अपना इस्तीफ़ा वापिस लेना चाहते हैं.

पनीरसेल्वम ने पीठ में छुरा भोंका: शशिकला

मुलाक़ात के बाद पनीरसेल्वम जब बाहर निकले तो वो ख़ुश नज़र आ रहे थे. उन्होंने कार का शीशा नीचे कर पार्टी काडर की तरफ खुशी से देखा.

इमेज कॉपीरइट AFP

घर पहुंच कर उन्होंने कहा, "पार्टी में सबसे वरिष्ठ नेता और प्रिसिडियम चेयरमैन मधुसूदनन अब हमारे साथ जुड़ गए हैं. उनके साथ हम राज्यपाल के पास गए और हमें भरोसा है कि अच्छा ही होगा, सच्चाई की जीत होगी."

राज्यपाल आज दोपहर बाद मुंबई से चेन्नई पहुंचे थे.

शशिकला: वीडियो पार्लर से सीएम की कुर्सी तक

बीते दिनों पनीरसेल्वम के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देने के बाद एआईएडीएमके के विधायकों ने शशिकला को विधायक दल का नेता चुन लिया. इससे उनके मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ़ हो गया.

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन उसके बाद पनीरसेल्वम ने दावा किया कि दबाव डाल कर उनसे इस्तीफ़ा लिया गया था.

अब सबकी नज़रें इस बात पर हैं कि ओ पनीरसेल्वम और वीके शशिकला से मिलने के बाद राज्यपाल विद्यासागर राव क्या फ़ैसला लेते हैं.

यानी वो पनीरसेल्वम को विधानसभा में विश्वास हासिल करने को कहते हैं या फिर शशिकला को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलवाते हैं.

शशिकला ने दावा किया है कि पार्टी के 134 में से 130 विधायक उनके साथ हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे