शशिकला ने अपने लिए कार भरकर कपड़े मंगवाए

इमेज कॉपीरइट EPA

एआईएडीएमके महासचिव शशिकला नटराजन को बेंगलुरु की जेल में अन्य क़ैदियों की तरह रहना होगा क्योंकि संबंधित न्यायाधीश ने उन्हें किसी तरह की रियायत देने से साफ़ मना कर दिया है.

शशिकला ने जयललिता की समाधि पर जाकर शपथ ली

आय से अधिक संपत्ति के एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शशिकला को निचली अदालत से मिली चार साल की सज़ा को बरकरार रखा था जिसके बाद शशिकला ने समर्पण कर दिया है.

आइए एक नज़र डालते हैं शशिकला ने जेल में अपने लिए अलग से क्या मांगा था और उन्हें क्या मिला.

- शशिकला ने जेल में अपने लिए एक अलग डॉक्टर की मांग की थी क्योंकि उन्हें डाइबिटीज़ है लेकिन न्यायाधीश ने मना कर दिया.

- शशिकला ने अपने लिए ए-क्लास सेल मांगा था क्योंकि इसी मामले में साल 2014 में उन्हें तीन हफ्ते के लिए ए-क्लास सेल में रखा गया था. लेकिन न्यायाधीश ने मना कर दिया.

- शशिकला ने अनुमति मांगी थी कि उनकी भांजी इलावर्सी को उनके साथ एक ही सेल में रखा जाए और इसके पीछे उन्होंने अपनी खराब तबीयत का हवाला दिया था. लेकिन लेकिन न्यायाधीश ने मना कर दिया.

- शशिकला ने चेन्नई से अपने लिए एक कार भरकर कपड़े मंगवाए थे, लेकिन न्यायाधीश ने जेल के भीतर अलग से कपड़े लाने की अनुमति नहीं दी.

- शशिकला और इलावर्सी को जेल की तरफ से तीन जोड़ी साड़ी दी गई हैं जो नीले रंग की हैं जिनमें हरी पट्टी लगी हुई है. ये वहीं साड़ियां हैं जो महिला क़ैदियों को दी जाती हैं.

Image caption एआईएडीएमके महासचिव शशिकला नटराजन समर्पण के लिए बेंगलुरु जाने से पहले चेन्नई में जयललिता की समाधि पर गई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे