यूपी में काम नहीं अदालत बोलती है: मोदी

इमेज कॉपीरइट Reuters

उत्तर प्रदेश चुनाव में राजनीतिक दलों के बीच आरोप- प्रत्यारोप का दौर जारी है. कोई भी पार्टी ये मौक़ा नहीं छोड़ रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन और बहुजन समाज पार्टी पर ज़बरदस्त हमला किया.

उन्होंने कहा कि ये तमाम दल चुनाव में कहीं नहीं हैं अपनी इज्ज़त बचाने के लिए मैदान में किसी तरह टिके हुए हैं.

फूलपुर की चुनाव रैली में कही उनकी बातों की मुख्य बातें.

  • उत्तर प्रदेश विकास के तमाम मानकों में देश के कई राज्यों से पीछे है. यह सिर्फ़ अपराधीकरण, भाई भतीजावाद और गुंडागर्दी में ही अव्वल है.
  • राज्य में वाकई विकास हो रहा होता तो अदालत इसे हर हफ़्ते फटकार क्यों लगाती? यहां काम नहीं अदालत बोलती है.
  • कांग्रेस कुछ दिन पहले तक कह रही थी, 27 साल यूपी बेहाल. अब क्या हो गया?
  • कांग्रेस की सोच बड़ी नहीं है, यह राज्य को नहीं बदल सकती है, सत्ता हथियाने के लिए सपा के साथ है.
  • इलाहाबाद ने देश को कई प्रधानमंत्री दिए हैं. अब इसे राज्य की तक़दीर बदलनी है.

रमज़ान ही नहीं, दिवाली में भी आए बिजली: मोदी

नज़रिया: मायावती पर मुसलमानों को कितना भरोसा?

दूसरी ओर, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी पर तीखे हमले किए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
  • प्रधानमंत्री दरअसल नरेंद्र दामोदरदास मोदी नहीं, बल्कि 'मिस्टर निगेटिव दलित मैन' हैं.
  • मैं ऐसा नहीं कहना चाहती, पर मजबूर हूं. मोदी ने इसके पहले बहुजन समाज पार्टी को 'बहनजी संपत्ति पार्टी' कहा था.
  • मैंने अपनी पूरी ज़िंदगी दलितों, ग़रीबों के लिए काम करते हुए बिताई है. मोदी मुझे ऐसा कैसे कह सकते हैं.
  • चुनाव के नतीजे जब 11 मार्च को आएंगे, मोदी को राज्य के दलितों का जवाब मिल जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)