यूपी को 'कसाब' से मुक्ति दिलाने की ज़रूरत: अमित शाह

इमेज कॉपीरइट PTI

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गोरखपुर के चौरीचौरा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश को 'कसाब' से मुक्ति दिलाने की ज़रूरत है.

उन्होंने कहा, "मेरे कसाब कहने का कोई और अर्थ न लगाएं. कसाब से मेरा मतलब है 'क' यानी कांग्रेस, 'स' यानी समाजवादी पार्टी और 'ब' यानी बहुजन समाज पार्टी."

कांग्रेस ने अमित शाह के बयान की तीखी आलोचना की है.

यूपी में ताल ठोक रही हैं दो रानियां

पार्टी नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि ये बीजेपी की सांप्रदायिक मनोवृत्ति को दर्शाता है.

अजमल कसाब वही शख्स है, जो 2008 के मुंबई हमलों के समय ज़िंदा पकड़ा गया था और 2012 में उसे फांसी दी गई थी.

गठबंधन से इनकार

इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष ने उत्तर प्रदेश में किसी भी दल को बहुमत न मिलने की स्थिति में बहुजन समाज पार्टी या किसी भी अन्य दल के साथ चुनाव बाद गठबंधन से इनकार किया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमित शाह ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि बीजेपी को उत्तर प्रदेश में बहुमत हासिल होगा.

"किसी से भी हाथ मिलाने का दूर-दूर तक कोई सवाल नहीं उठता."

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सीएम की घुड़दौड़

उत्तर प्रदेश में चौथे चरण में 12 ज़िलों की 53 सीटों के लिए 23 फ़रवरी यानी गुरुवार को वोट डाले जाएंगे. इनमें प्रतापगढ़, इलाहाबाद और रायबरेली प्रमुख हैं.

बीजेपी अध्यक्ष ने ये भी कहा कि चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद के किसी उम्मीदवार के नाम की घोषणा ना करना पार्टी की चुनावी रणनीति का हिस्सा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमित शाह ने कहा कि इस चुनाव के नतीजे दूरगामी असर डालेंगे और इनका 2019 के लोकसभा चुनाव पर भी असर रहेगा.

हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि यूपी चुनाव के नतीजे देश के विकास के लिए भी महत्वपूर्ण साबित होंगे.

सोनिया गांधी का बयान

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस बीच बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक लिखित बयान जारी कर कहा है कि कुछ कारणों से वो मतदाताओँ के बीच अब तक नहीं आ सकी हैं.

उन्होंने कहा, "कुछ कारणों से मैं आप सब के बीच उपस्थित नहीं हो सकी. आपका प्रतिनिधित्व करना मेरे और मेरे परिवार के लिए गर्व की बात है."

उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए सात चरणों में चुनाव हो रहे हैं. पांचवें चरण को मतदान 27 फ़रवरी, छठे चरण का 4 मार्च और सातवें चरण का मतदान 8 मार्च को होगा.

मतगणना 11 मार्च को होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)