दलित महिलाओं की ज़िंदा जलाकर हत्या

  • 23 फरवरी 2017
इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

झारखंड में एक दलित परिवार के घर में दबंगों ने कथित रूप से आग लगा दिया जिससे दो महिलाओं की मौत हो गई.

घटना पलामू जिले के सुदूर बिनेका गांव की है.

पलामू के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने घटना का पुष्टि की है.

उन्होंने बताया है कि पुलिस की तफ्तीश में ये बात सामने आई है कि ज़मीन विवाद में संजय पासवान के घर में बुधवार की देर रात रात आग लगा दी गई.

इसके अलावा गांव के कई घरों को बाहर से कुंडी लगा दी गई थी ताकि कोई मदद के लिए बाहर नहीं आ सके. यह जगह पलामू ज़िला मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर है.

इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

आग लगाए जाने के बाद घर के अंदर लोग काफी देर तक चीखते- चिल्लाते रहे. आग की लपटें कम होने पर संजय पासवान और उनके भाई ने खपरैल छत को तोड़कर दूसरे सदस्यों को बाहर निकाला.

संजय पासवान का कहना था कि उन्होंने पत्नी और मां को बुरी तरह जलते देखा, लेकिन बचा नहीं सके.

गुरुवार को डीएसपी हीरालाल रवि के नेतृत्व में पुलिस ने गांव पहुंचकर घटना का जायज़ा लिया. मरने वाली महिलाओं में संजय पासवान की पत्नी और मां शामिल हैं. जबकि उनकी बेटी समेत कई लोग झुलस गए हैं.

बेटी को इलाज के लिए डाल्टनगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इसके साथ ही दस लोगों के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज की गई है.

इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

इनमें संजय पासवान का एक रिश्तेदार तथा ऊंची जाति के कई लोग शामिल हैं.

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक संजय पासवान दूसरे राज्य में मजदूरी का काम करते हैं. वे हाल ही में गांव लौटे थे.

जांच में पता चला है कि ज़मीन ख़रीदने और बंटवारे को लेकर विवाद के बाद संजय पासवान के रिश्तेदार और कुछ साधन-संपन्न लोग बदला लेने की फ़िराक में लगे थे.

इस बीच पलामू के उपायुक्त ने तरहसी प्रखंड के बीडीओ से तत्काल पीड़ित परिवार को सहायता मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे