राहुल पर शीला की राय से पूरा देश सहमत है: अमित शाह

अमित शाह इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह शीला दीक्षित की बात से सहमत हैं कि राहुल गांधी अपरिपक्व हैं. शाह ने कहा कि शीला जी की बात से पूरा देश सहमत है.

इससे पहले दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में कहा था कि कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी परिपक्व नहीं हैं और उन्हें वक़्त दिया जाना चाहिए. शीला दीक्षित से पूछा गया था कि राहुल गांधी इतना आक्रामक चुनाव प्रचार कर रहे हैं फिर भी कई राज्यों में हार का सामना क्यों करना पड़ा.

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption यूपी में चुनाव प्रचार के दौरान राहुल के साथ शीला दीक्षित

शीला दीक्षित ने इस इंटरव्यू में कहा है, ''हम परिवर्तन के दौर से गुजर रहे हैं. यह परिवर्तन पीढ़ी और राजनीतिक दोनों स्तर पर है. राजनीतिक भाषा तो पूरी तरह से बदल गई है. प्रधानमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के लिए जो कहा उसे हम उदाहरण के तौर पर देख सकते हैं. यह बदलाव दृष्टिकोण, संबंध, भाषा और संपर्क हर स्तर पर देखा जा सकता है.''

नज़रिया: यूपी में अमित शाह के लिए बजने लगी है ख़तरे की घंटी?

राहुल गांधी के बदले हुए हैं अंदाज़

यूपी: शीला को लाने से ब्राह्मण कांग्रेस की ओर झुकेंगे?

शीला दीक्षित ने कहा, ''कांग्रेस इस बदले माहौल में ख़ुद को फिट करने की कोशिश कर रही है. और कृपया इस बात को आपको ध्यान में रखना चाहिए कि राहुल गांधी अभी पूरी तरह से परिवक्व नहीं हैं. उनकी उम्र भी इस लिहाज़ से कम है. वह 40 के पार हैं. उन्हें अभी वक़्त दिया जाना चाहिए. कांग्रेस कमजोर और हाशिये के लोगों का विकास करना चाहती है. राहुल जी इकलौते हैं जो किसानों की बात करते हैं.''

इमेज कॉपीरइट Reuters

परिवर्तन के दौर से गुजर रही है कांग्रेस

शीला ने आगे राहुल का बचाव करते हुए कहा है, ''मेरा मानना है कि राहुल ने लंबा सफर तय किया है. वह अभी प्रधानमंत्री नहीं हैं क्योंकि अभी कोई मौका नहीं है. हालांकि वह काम कर रहे हैं. वह बैठकों में शामिल होते हैं. वह इकलौते हैं जो मन की बात बोलते हैं. यह अच्छा है कि वह बनावटी नहीं हैं.''

इमेज कॉपीरइट Twitter

जब शीला दीक्षित के अपरिपक्व वाले बयान की चर्चा गर्म हुई तो उन्होंने ट्विटर पर इस मामले में सफाई दी है. शीला दीक्षित ने ट्वीट किया, ''राहुल के पास संवेदनशीलता है और यह एक परिपक्व नेता की ही पहचान है. उनकी भाषा में युवा जोश, साहस और बेताबी है. मेरे शब्दों को तोड़मरोड़कर पेश नहीं किया जाए.''

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption शीला दीक्षित ने राहुल पर दिए बयान को लेकर दी सफाई

जब समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में गठबंधन नहीं हुआ था तब कांग्रेस ने शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित किया था. कांग्रेस ने शीला के नेतृत्व में चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिया था. कहा जा रहा था कि कांग्रेस ने यूपी में ब्राह्मण वोटों को आकर्षित करने के लिए शीला दीक्षित को आगे किया.

हालांकि पार्टी ने बाद में रणनीति बदलते हुए समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर लिया और अखिलेश को गठबंधन का मुख्यमंत्री प्रत्याशी माना गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)