यूपी चुनाव: पांचवें चरण के पांच बड़े चेहरे

  • 27 फरवरी 2017
यूपी विधानसभा इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में सोमवार को मतदान हो रहा है. नेपाल की तराई से लगे पूर्वी उत्तर प्रदेश के 11 ज़िलों की कुल 51 सीट के लिए वोट डाले जा रहे हैं.

इस चरण में बलरामपुर, गोंडा, फ़ैज़ाबाद, अंबेडकरनगर, बहराइच, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संत कबीरनगर, अमेठी और सुल्तानपुर ज़िले की विधानसभा सीटें शामिल हैं.

अंबेडकरनगर के आलापुर में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी चंद्रशेखर कनौजिया के निधन के कारण चुनाव आयोग ने यहां मतदान की तारीख नौ मार्च निर्धारित की है.

पांचवें चरण की 51 विधानसभा सीटों पर 617 उम्मीदवार मैदान में हैं जिनमें से 168 करोड़पति चुनाव लड़े रहे हैं.

एसोसिएशन फ़ॉर डेमोक्रेटिक रिफ़ॉर्म्स (एडीआर) के मुताबिक सबसे ज़्यादा 43 करोड़पति उम्मीदवार बहुजन समाज पार्टी से खड़े हैं.

वहीं भारतीय जनता पार्टी के 51 में से 38 उम्मीदवार करोड़पति हैं जबकि समाजवादपार्टी के 42 में से 32 उम्मीदवार करोड़पति हैं. कांग्रेस के 14 में से सात करोड़पति उम्मीदवार हैं.

अमेठी के महल में ताल ठोंकती 'रानियां'

झोपड़ी में रहने और भैंस दुहने वाले मंत्री

इतना ही नहीं 117 उम्मीदवारों पर आपराधिक मुकदमे भी दर्ज हैं. वैसे इस चरण में जिन उम्मीदवारों पर नज़रें हैं, उनमें से कुछ प्रमुख चेहरे हैं-

इमेज कॉपीरइट Ajay Pratap Singh FB
Image caption अजय प्रताप सिंह

अजय प्रताप सिंह- इस चरण के सबसे अमीर उम्मीदवार हैं अजय प्रताप सिंह.

भारतीय जनता पार्टी की ओर से गोंडा ज़िले के कर्नलगंज विधानसभा सीट पर अपनी किस्मत आज़मा रहे अजय प्रताप सिंह ने अपने हलफ़नामे में 49 करोड़ रुपए की संपत्ति बताई है.

वे बहुजन समाज पार्टी से बीजेपी में आए हैं. उनका मुक़ाबला समाजवादी पार्टी के योगेश प्रताप सिंह और बहुजन समाज पार्टी के संतोष कुमार तिवारी से है.

Image caption इस तस्वीर में बायीं ओर गरिमा सिंह हैं और दायीं ओर अमिता सिंह

अमिता सिंह- अमेठी के महाराज संजय सिंह की दूसरी पत्नी अमिता सिंह कांग्रेस पार्टी के टिकट पर अमेठी सदर से चुनाव लड़ रही हैं.

संजय सिंह की पहली पत्नी गरिमा सिंह को भारतीय जनता पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है.

ख़ास बात ये है कि इसी सीट से मौजूदा विधायक गायत्री प्रजापति भी चुनाव मैदान में हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

गायत्री प्रजापति- बलात्कार के आरोपों का सामना कर रहे गायत्री प्रजापति मुलायम सिंह के क़रीबी माने जाते हैं.

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस में गठबंधन होने के बावजूद वे इस सीट से चुनाव मैदान में हैं और राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उनके पक्ष में चुनाव प्रचार भी कर चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट Ram Achal Rajbhar FB
Image caption राम अचल राजभर

रामअचल राजभर- बहुजन समाजपार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर अकबरपुर सीट से चुनाव मैदान में हैं.

वे मायावती के बेहद करीबी नेता माने जाते हैं.

उनका इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी के चंद्रप्रकाश वर्मा और समाजवादी पार्टी के कैबिनेट मंत्री राममूर्ति वर्मा के बीच मुक़ाबला है.

इमेज कॉपीरइट Prateek Bhushan Singh FB
Image caption प्रतीक भूषण सिंह

प्रतीक भूषण सिंह- कैसरगंज से भारतीय जनता पार्टी के बाहुबली सांसद बृजभूषण सिंह के बेटे हैं प्रतीक भूषण.

इन्हें पार्टी ने गोंडा विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है.

पहली बार चुनाव लड़ रहे प्रतीक मेलबर्न से पढ़ाई करके लौटे हैं.

उनका मुक़ाबला समाजवादी पार्टी के सूरज सिंह और बहुजन समाज पार्टी के मोहम्मद ज़लील ख़ान से है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)