मंत्रीजी, आपका दिमाग़ किसने गंदा किया, पता है: जावेद अख़्तर

जावेद अख़्तर

रामजस कॉलेज विवाद में करगिल युद्ध में मारे गए सैनिक की बेटी गुरमेहर कौर एबीवीपी का विरोध कर निशाने पर आ गई थीं. इस मामले में गुरमेहर कौर को ऑनलाइन ट्रोलिंग का सामना करना पड़ा.

यहां तक कि देश के गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने गुरमेहर को निशाने पर लेते हुए पूछा कि उस लड़की का दिमाग़ कौन गंदा कर रहा है?

इमेज कॉपीरइट Twitter

अब इस मामले में देश के जाने-माने फ़िल्मकार जावेद अख़्तर ने ट्वीट कर कहा है, ''मुझे उस लड़की के बारे में नहीं पता लेकिन मंत्री का दिमाग़ कौन गंदा कर रहा है यह मुझे पता है.''

कर्नाटक से बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने तो गुरमेहर को लेकर कहा कि दाउद इब्राहिम ने भी अपने राष्ट्रविरोधी क़दम के लिए पिता का सहारा नहीं लिया था.

मेरे दोस्तों को रेप की धमकी दी गई - गुरमेहर कौर

सहवाग ने क्यों कहा- मैंने नहीं, बल्ले ने मारे दो तिहरे शतक?

जावेद अख़्तर के इस ट्वीट पर गुफ़रान शेख नाम के एक ट्विटर यूज़र ने कहा, ''सर ने आज पलटी मारी है, लेकिन अच्छा लगा आपके अंदर के जावेद साहेब तो जागे.''

इसके जवाब में जावेद अख़्तर ने कहा, ''आज मैं आपको अच्छा लग रहा हूं और जब आपके मुल्लाओं की बात करता हूं तो बुरा हो जाता हूं.''

इमेज कॉपीरइट TWITTER

इससे पहले गुरमेहर पर रिजिजू की टिप्पणी की कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने भी तीखी आलोचना की थी. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ''इस भद्र पुरुष को संसद में नहीं होना चाहिए...यह दुर्भाग्य है कि ऐसा सरकार की तरफ़ से हो रहा है. शहीद का परिवार अपमानित महूसस कर रहा है. ऐसा शख़्स मोदी कैबिनेट में है.''

एक मज़ाक के लिए मुझे फांसी पर मत लटकाओ: रणदीप हुड्डा

गुरमेहर 20 साल की छात्रा हैं. इन्होंने फ़ेसबुक पर एक प्रोफ़ाइल तस्वीर पोस्ट की थी. इस तस्वीर पर लिखा था, ''मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट हूं और मैं एबीवीपी से नहीं डरती हूं. मैं अकेले नहीं हूं. देश का हर स्टूडेंट मेरे साथ है.'' गुरमेहर की यह पोस्ट पिछले हफ़्ते रामजस कॉलेज में जेएनयू छात्र उमर ख़ालिद को बुलाने को लेकर हिंसक झड़प पर थी. उमर ख़ालिद पर पिछले साल राजद्रोह का आरोप लगा था.

गुरमेहर कौर ने अपने एक पुराने वीडियो में 36 पोस्टर दिखाकर अपनी बात कही थी. इसमें एक कार्ड पर लिखा हुआ था, ''पाकिस्तान ने मेरे पिता को नहीं मारा. मेरे पिता को युद्ध ने मारा.' गुरमेहर के इस प्लेकार्ड को ऑनलाइन पोस्ट किया गया और लोगों ने इसी तर्ज पर ख़ूब खिल्ली उड़ाई.

पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी ट्विटर पर अपनी तस्वीर के साथ एक प्लेकार्ड पोस्ट किया. इस पर लिखा हुआ था, ''तिहरा शतक मैंने नहीं मारा बल्कि मेरे बैट ने मारा.'' सहवाग के इस ट्वीट पर बॉलीवुड अभिनेता रणदीप हुड्डा ने स्माइली दी थी. इसके लिए दोनों की ख़ूब आलोचना हुई कि उन्होंने 20 साल की एक लड़की का मज़ाक बनाने में मदद की.

गुरमेहर के पिता कैप्टन मनदीप सिंह थे. वह 1999 में करगिल युद्ध में मारे गए थे. गुरमेहर ने कहा कि उनकी फ़ेसबुक पोस्ट के कारण लोग उन्हें देशद्रोही कह रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि उन्हें रेप की धमकी मिल रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे