तमिलनाडु में बुधवार से पेप्सी, कोका कोला बंद

तमिलनाडु, कोका कोला, पेप्सी पर प्रतिबंध इमेज कॉपीरइट Getty Images

तमिलनाडु के व्यापारियों ने स्थानीय उत्पादों के पक्ष में कोका कोला और पेप्सी की बिक्री पर बुधवार से पाबंदी लगा दी है.

इस प्रतिबंध का प्रस्ताव राज्य के व्यापारियों के दो शीर्ष संगठनों की ओर से आया था.

संगठनों ने कहा है कि सॉफ्ट ड्रिंक कंपनियां नदियों से भारी मात्रा में पानी का दोहन करती हैं जिसकी वजह से सूखे के समय पानी के लिए किसानों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है.

इंडियन बेवरेज एसोसिएशन (आईबीए) ने प्रतिबंध को लेकर निराशा जाहिर की है.

सॉफ्ट ड्रिंक्स के ज़्यादातर उत्पादकों का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था आईबीए ने कहा कि प्रतिबंध, 'अच्छे आर्थिक विकास की बुनियादी धारणाओं के खिलाफ़ है.'

संस्था ने कहा है, "तमिलनाडु में कोका कोला और पेप्सिको इंडिया मिलकर 2,000 परिवारों को रोज़गार मुहैया कराती हैं... आईबीए को उम्मीद है कि उपभोक्ता चुनने के अपने अधिकार को जारी रखेंगे."

चंद कंपनियों के क़ब्ज़े में है दुनिया का फूड बाज़ार

बदला कोक और पेप्सी का फॉर्मूला

इमेज कॉपीरइट HOANG DINH NAM/AFP/Getty Images

अनुमान है कि राज्य में 10 लाख से अधिक दुकानदार इस प्रतिबंध का पालन करेंगे.

व्यापारियों के दो बड़े संगठन, फ़ेडरेशन ऑफ़ तमिलनाडु ट्रेडर्स एसोसिएशंस (एफ़टीएनटीए) और तमिलनाडु ट्रेडर्स एसोसिएशंस फ़ोरम (टीएनटीएएफ़) ने कहा है कि प्रतिबंध का प्रस्ताव, जल्लीकट्टु पर प्रतिबंध के खिलाफ़ पिछले महीने हुए प्रदर्शनों से प्रेरित होकर किया गया है.

एफ़टीएनटीए के अध्यक्ष था वेलैयन ने बीबीसी तमिल से कहा, "कई महीने पहले हमने सॉफ्ट ड्रिंक्स के विरोध में अभियान शुरू किया था. लेकिन इसमें तब तेजी आई जब हमने जल्लीकट्टु आंदोलन को समर्थन दिया."

इन संगठनों ने सुपरमार्केट, रेस्तरां और होटलों से प्रतिबंध लागू करने और स्थानीय व्यवसाय और किसानों की स्थिति में मदद करने की अपील की है.

प्रतिबंध पर पेप्सी और कोका कोला का कोई बयान नहीं आया है.

शक्कर कितना मीठा है?

कोका कोला हटाएगी 'विवादास्पद पदार्थ'

कहानी कोका कोला की

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे