तमिलनाडु : कोक-पेप्सी के बदले क्या मिलेगा?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

तमिलनाडु के व्यापारियों ने स्थानीय उत्पादों के पक्ष में कोका कोला और पेप्सी की बिक्री पर बुधवार से पाबंदी लगा दी है.

इस प्रतिबंध का प्रस्ताव राज्य के व्यापारियों के दो शीर्ष संगठनों की ओर से आया था.

संगठनों ने कहा है कि सॉफ्ट ड्रिंक कंपनियां नदियों से भारी मात्रा में पानी का दोहन करती हैं जिसकी वजह से सूखे के समय पानी के लिए किसानों को भारी परेशानी उठानी पड़ती है.

तमिलनाडु में बुधवार से पेप्सी, कोका कोला बंद

इमेज कॉपीरइट Getty Images

और इसको देखते हुए व्यापारियों ने राज्य में पेप्सी और कोक जैसे सॉफ्ट ड्रिंक उत्पादों को नहीं बेचने का फ़ैसला किया है.

स्थानीय पत्रकार केवी लक्ष्मण के मुताबिक राज्य के करीब 75 फ़ीसदी खुदरा व्यापारी कोल्ड ड्रिंक्स का बॉयकॉट कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

400 करोड़ के कारोबार पर असर

लक्ष्मण के मुताबिक इस फ़ैसले से राज्य में पेप्सी और कोक का सालाना कारोबार करीब 400 करोड़ रुपए का है जिसपर असर पड़ सकता है.

प्रतिबंध पर पेप्सी और कोका कोला का कोई बयान नहीं आया है.

फ़िलहाल तमिलनाडु की जनता के सामने सवाल है कि प्रतिबंध का उनपर क्या असर पड़ेगा, उनके सामने क्या विकल्प होंगे.

इमेज कॉपीरइट kalimarkbovonto.com

स्थानीय पत्रकार लक्ष्मण बताते हैं कि एक विकल्प नारियल पानी हो सकता है जिसकी तमिलनाडु में कोई कमी नहीं है.

इसके अलावा तमिलनाडु सहित दक्षिण भारत में एक स्थानीय कोल्ड ड्रिंक भी काफी लोकप्रिय रहा है. ऐसे में लोगों के सामने यह विकल्प भी मौजूद होगा.

यह ब्रांड बीते छह दशक से राज्य में कोल्ड ड्रिंक का उत्पादन करता रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे