प्रेस रिव्यू: 'दिल्ली में निजी अस्पताल में भी होगी मुफ़्त सर्जरी'

Image caption लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल, दिल्ली

हिन्दुस्तान टाइम्स अख़बार में लिखा है कि दिल्ली के 30 सरकारी अस्पतालों में इलाज करा रहे किसी शख़्स को सर्जरी के लिए अगर एक महीने से ज़्यादा की तारीख़ मिलती है तो उसकी सर्जरी मुफ़्त में निजी अस्पताल में हो सकेगी.

आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली के 41 निजी अस्पतालों के साथ करार किया है जिसके तहत इन अस्पतालों में 30 तरह की सर्जरी हो सकेगी.

इन निजी अस्पतालों में डॉक्टर को दिखाने से लेकर सर्जरी के बाद वहां रहने, एक महीने की दवाओं और फॉलोअप का ख़र्च दिल्ली सरकार उठाएगी.

इमेज कॉपीरइट AP

द हिन्दू अख़बार की पहली ख़बर है कि जीडीपी आंकड़ों पर मोदी के अपनी पीठ थपथपाने पर कांग्रेस ने आंकड़ों की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया है.

बुधवार को कांग्रेस ने सरकार के जारी किए गए जीडीपी के आंकड़ों को 'अति संदिग्ध' करार दिया और कहा कि इनसे भारती की वैश्विक विश्वसनीयता पर बट्टा लग सकता है.

कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा है कि केंद्रीय सांख्यिकी दफ़्तर (सीएसओ) से जारी किए इन आँकड़ों में नोटबंदी के बाद पैदा हुए कठिन हालात और बेरोज़गारी और उत्पादन में आई कमी को ध्यान में नहीं रखा गया है.

इमेज कॉपीरइट PRESS ASSOCIATION

दैनिक भास्कर की ख़बर के मुताबिक मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) ने डाक्टरी की पढ़ाई के लिए खुले 32 मेडिकल कॉलेजों की मान्यता रद्द कर दी है.

इन सभी कॉलेजों में मूलभूत और संस्थागत कमियां पाई गई हैं. साल 2017-18 के लिए शुरू हो चुके मेडिकल सत्रों में ये कॉलेज पढ़ाई नहीं करा पाएंगे.

पिछले साल इन नए कॉलेजों के आवेदन को एमसीआई ने पहले ही रद्द कर दिया था.

लेकिन सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित कमेटी ने शपथपत्र के आधार पर बच्चों के दाखिले की अनुमति दी थी.

दोबारा हुई जांच में भी एमसीआई ने इन सभी कॉलेजों में कमियां मिली.

मान्यता रद्द किए गए कॉलेजों में चार मध्य प्रदेश के कॉलेज के 600, राजस्थान को दो मेडिकल कॉलेजों के 300, छत्तीसगढ़ के दो मेडिकल कॉलेजों को 300 और हरियाणा के दो मेडिकल कॉलेजों के 300 स्टूडेंट्स ने दाखिला लिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)