संघ ने केरल के मुख्यमंत्री पर बयान देने वाले नेता को 'निकाला'

इमेज कॉपीरइट AFP

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन के कत्ल पर इनाम का एलान करने वाले अपने पदाधिकारी को सभी दायित्वों से मुक्त कर दिया है.

संघ के ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा गया है कि विवादित बयान देने वाले कुंदन चंद्रावत को संघ के कार्य से मुक्त कर दिया गया है.

बयान में कहा गया है कि कुंदन के विवादित बयान से संघ के बारे में भ्रम बना है.

इससे पहले गुरुवार को पोस्ट किए गए बयान में संघ ने ख़ुद को कुंदन चंद्रावत के बयान से अलग कर लिया था.

पढ़ें- वामपंथ को मिटाने की कसम क्यों खा रहा है आरएसएस?

केरल में सम्मेलन से भाजपा को क्या हासिल?

इमेज कॉपीरइट @RSSOrg

बयान में कहा गया है, "संघ हिंसा को प्रोत्साहन देने वाली सोच के ख़िलाफ़ है."

1 मार्च को उज्जैन में हुए एक कार्यक्रम में कुंदन चंद्रावत ने कहा था कि जो भी व्यक्ति केरल के मुख्यमंत्री की हत्या करेगा वो उसे एक करोड़ रुपए की संपत्ति इनाम में देंगे.

इमेज कॉपीरइट SREEKESH RAVEENDRAN NAIR

चंद्रावत के इस बयान की संघ के साथ सीपीएम और कांग्रेस ने भी निंदा की थी.

केरल में वामदल कार्यकर्ताओं और संघ कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें होती रही हैं.

चंद्रावत ने घोषणा की थी की इनाम की घोषणा केरल में संघ कार्यकर्ताओं की हत्या के बदला लेने के लिए की गई है. उन्होंने इन हत्याओं का आरोप सीपीएम कार्यकर्ताओं पर लगाया था.

हाल ही में केरल में संघ के कार्यालय पर हुए बम हमले में तीन कार्यकर्ता घायल हुए थे.

1 मार्च को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने देशभर में 50 से अधिक स्थानों पर केरल में हो रहे कथित हमलों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे