क्या मुझे गंगा मइया की सौगंध खाने की ज़रूरत है?: नरेंद्र मोदी

  • 4 मार्च 2017
मोदी इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption बनारस में रोड शो को दौरान पीएम नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने लोकसभा क्षेत्र बनारस में रोड शो करने के बाद टाउन हॉल में लोगों को संबोधित किया. पीएम ने यहां अपने किए कामों का ब्यौरा दिया. इस दौरान उन्होंने अखिलेश सरकार पर जमकर हमला बोला.

मोदी ने कहा, ''क्या मुझे गंगा मइया की सौंगध खाने की ज़रूरत है? मैं काशी की महिमा लगातार बढ़ाने में लगा हूं. लोग ईश्वर को मानें या न मानें, लेकिन ईश्वर की शक्ति तो होती ही है. आज मुख्यमंत्री विश्वनाथ मंदिर जा रहे थे तो बिजली ही चली गई. ईश्वर ने दिखा दिया न? अटल जी ने रिंग रोड का सपना बनारस के लिए देखा था. इसे किसी सरकार ने पूरा नहीं किया. अब काम शुरू हो गया है. हम बनारस को बिजली के लटकते तारों से मुक्त करेंगे.''

मोदी को पता है 'कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा'

इमेज कॉपीरइट Twitter

नारियल जूस पर कौन ग़लत - राहुल या मोदी

वाराणसी में बीजेपी दिग्गजों का जमावड़ा क्यों?

मोदी ने जौनपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन को कटघरे में खड़ा किया. पीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार गायत्री प्रजापति के ख़िलाफ़ कार्रवाई नहीं कर रही है. प्रजापति पर एक महिला के साथ रेप और पीड़िता की बेटी पर हमले का आरोप है.

उत्तर प्रदेश के मंत्री गायत्री प्रजापति पुलिस की पकड़ से अब भी बाहर हैं. पुलिस ने गायत्री प्रजापति के ख़िलाफ़ ग़ैरज़मानती वॉरंट जारी किया है. शनिवार को प्रदेश के चुनावी अभियान में गायत्री प्रजापति की चर्चा गर्म रही.

इमेज कॉपीरइट Twitter

पीएम ने कहा, ''इस देश में कुछ भी अच्छा काम करने पर हम गायत्री मंत्र का जाप करते हैं, लेकिन समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गायत्री प्रजापति मंत्र का जाप कर रही हैं. उनके ख़िलाफ़ केस दर्ज हो गया है लेकिन मुख्यमंत्री प्रजापति के समर्थन में चुनाव प्रचार भी करने गए. अब पुलिस को वह मिल नहीं रहे हैं.''

पीएम ने कहा कि अखिलेश इस मामले में पीड़िता को इंसाफ नहीं दिलाना चाहते. उन्होंने कहा कि मतदाताओं को इस अत्याचारी सरकार के पिंड दान करने का सबसे माकूल मौका है.

मोदी ने कहा, ''एक बेटी को इंसाफ चाहिए और मुख्यमंत्री गुनहगार को बचाने में व्यस्त हैं. इस प्रदेश की सरकार भैंस खोने पर खोजने में जुट जाती है पर एक लड़की इंसाफ की गुहार लगा रही है तो मुख्यमंत्री नींद ले रहे हैं. ऐसी सरकार को सज़ा मिलनी ही चाहिए.''

इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption बनारस के विश्वनाथ मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

गायत्री प्रजापति लगभग एक हफ़्ते से ग़ायब हैं. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में गिरफ़्तारी से बचने के लिए अर्जी लगाई है. प्रजापति की याचिका पर सोमवार को सुनवाई हो सकती है. प्रजापति आख़िरी बार अमेठी में चुनाव प्रचार करते दिखे थे.

वह यहीं से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार हैं. रेप केस दर्ज होने के बावजूद समाजवादी पार्टी ने प्रजापति को टिकट दिया था. ऐसी ख़बरें भी आ रही थीं कि प्रजापति गिरफ़्तारी से बचने के लिए विदेश फरार हो सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)