तीस्ता सितलवाड़ की किताब पर चर्चा तोड़फोड़ की आशंका से टली

मानव अधिकार कार्यकर्ता तीस्ता सितलवाड़ इमेज कॉपीरइट Teesta sitalvad/Facebook
Image caption मानव अधिकार कार्यकर्ता तीस्ता सितलवाड़ की किताब पर चर्चा तोड़फोड़ की आशंका से टली

बहुचर्चित मानवाधिकार कार्यकर्ता तीस्ता सितलवाड़ के संस्मरण 'फ़ुट सोल्जर ऑफ़ कंस्टीच्यूशन' पर प्रस्तावित चर्चा 'बाहरी तत्वों की ओर से तोड़फोड़ की आशंका के मद्देनज़र रद्द कर दिया गया है.'

दिल्ली के ऑक्सफ़ोर्ड बुकस्टोर में यह कार्यक्रम सोमवार को होना था. इसका आयोजन अंग्रेज़ी पत्रिका 'द कैरेवन', ऑक्सफ़ोर्ड बुकस्टोर और प्रकाशक लेफ़्टवर्ड कर रहे थे.

पत्रकार हरतोष सिंह बल और लेखक तीस्ता सितलवाड़ को इस परिचर्चा में भाग लेना था.

एपीजे ऑक्सफ़ोर्ड बुकस्टोर की निदेशक मैना भगत ने इन सभी संबंधित लोगों को एक ई-मेल कर इसके रद्द होने की जानकारी दी.

हरतोष सिंह बल ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि उन्हें भी यह ई-मेल मिला. इस ई-मेल में कहा गया कि "चर्चा की तारीख़ असुविधाजनक ढंग से चुनाव के नज़दीक है. हाल फ़िलहाल शहर में छात्रों के विरोध प्रदर्शनों की वजह से हालात बदतर हो गए हैं."

इमेज कॉपीरइट TEESTA SITALVAD/FACEBOOK

ई-मेल में आगे कहा गया है, "राजधानी का मूड बेहद विस्फोटक है. मैं यह अच्छी तरह जानती हूं कि कोई इस कार्यक्रम में बाहरी तत्वों की ओर से तोड़फोड़ किए जाने या इस मौके को ख़राब किए जाने को पसंद नहीं करेगा."

हरतोष सिंह बल ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया जताई है.

उन्होंने बीबीसी से कहा, "यह कायरता है. उदारवादी सोच रखने वाले लोग यदि इस तरह थोड़े से दबाव में डर जाएंगे तो सरकार को कुछ करने की ज़रूरत ही क्या है? यह दवाब के आगे झुकना और आत्मसमर्पण करना है."

अब इस किताब पर परिचर्चा सोमवार को ही प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया में होगी.

कुछ दिनों पहले ही दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आईसा) और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्यों के बीच झड़पें हुईं थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे